मंगलवार, 31 दिसंबर 2019

मेरी इकलौती जिंदगी क्या ऐसे ही कट जाएगी inspirational new year 2020 poem

मेरी इकलौती जिंदगी क्या ऐसे ही कट जाएगी inspirational new year 2020 poem


मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,
लाखों सपने जो पाले हैं
मन में ख्वाब निराले...
कुछ पाने की चाहत है
न जाने जिंदगी मुझे कहा ले जाएगी, 
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,

यह साल भी देखो बीत गया,
गाते गाते गीत नया,
मेरे जीवन की नैया...
मुझे कैसे पार लगाएगी,
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,

Motivational new year 2020 poem


Motivational poem on happy new year 2020
Happy new year 2020

मेरा भी दिल करता है कि
काम करू कुछ बहुत बड़ा,
मेहनत को मैं हु तैयार,
किस्मत से भी मैं बहुत लड़ा,
बस हार नहीं मानूंगा मैं
चाहे जिंदगी कितना भी रुलाएगी,
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,

सुनो मुश्किलों बात मेरी अब,
नही डरुगा तुम सब से,
चाहें हारू हजार बार मै पर !
खूब लडूंगा जीभर के,
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,

तुमको क्या लगता है
मैं कायर हु या हु डरपोक,
मैं हु माली अपनी बाग का !
फूल ख़िलावूगा अब जम के,
बाग की तरह मेरी भी जिंदगी !
हजारो फूल खिलाएगी,
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी, 

बस यही थी मेरी जिंदगी  में आज की सिख....

बुधवार, 4 सितंबर 2019

Best motivational and inspiring poem in hindi 【क्या सही हु मैं】

Inspiring poem- here I share some inspiration poem for us. short inspirational poems in hindi for students , most inspiring poem in hindi, encouragement poem in hindi good inspirational poems in hindi

Best motivational and inspiring poem 

क्या सही हु मै

आज एक बहुत अच्छी poem लिखना चाहता हूं poem बेशक मैंने नहीं लिखी है लेकिन बहुत काम की poem है मेरे और आपके, आज मैं भी कुछ सीख लेता हूं इस poem से और हो सके तो आप भी बहुत कुछ सीख लेना इस poem से, ज्यादा वक्त ना लेते हुए सबसे पहले कविता सुनते हैं और उसके बाद उस पर थोड़ी सी चर्चा करते हैं,

short inspirational poems in hindi for students क्या सही हु मैं


Best motivational and inspiring poem
Best motivational and inspiring poem 

यू ढूढ़ खुद को खुद में क्या यही है तू, 
यू ढूढ़ खुद को खुद में क्या यही है तू, 
खुद को पूछ यह बात बार-बार 
क्या सही है तू ? 

क्या कमी है...
सब तो यही है...
फिर क्यों दुखी है तू
तुझे दुनिया से क्या..
तेरी दुनिया तो खुद ही है तू,

लड़ना भी है तो खुदसे लड़,
क्योंकि खुदको हराता और जीतता..
खुद ही है तू,
खुद को पूछ यह बात बार-बार 
क्या सही है तू ?

तुझे आंकना है खुद को, तुझे मापना है खुद को, 
तुझे आंकना है खुद को, तुझे मापना है खुद को,
फिर जीत कर दिखाना है तुझको और कहना है सबको की...
हा यही हु मैं, 
लेकिन फिर भी खुदको पूछता रहना है तुझको 


बस यह छोटी सी poem थी जो लिखी थी किसी ने अपने आप के लिए but मैंने इस Motivational poem को इस तरह से लिखा जैसे यह poem हमसे कुछ कह रही हो, मैं हर बात को इस तरह से लिखने की कोशिश करता हूं जैसे वह लिखावट हमसे बातें कर रही हो और तब जाकर उसके एक-एक शब्द हमारे दिल को छूते हैं,

एक और छोटी सी कविता है 


most inspiring poem in hindi



जो किसी के गम का ना हुआ 
वह किसी की खुशी का क्या होगा 

जब एक भगवान का ना हुआ 
तो एक इंसान का क्या होगा 

यूं तो सब को सब कुछ चाहिए 
लेकिन जो मिल गया उसका ना हुआ 

ख्वाहिश तो बहुत कि उसको पाने की 
लेकिन जो खुद का ना हुआ 
वह दूसरों का क्या होगा

ये कविता मेरे सर ने लिखी है इसलिए इसमें ज्यादा गलतिया मत खोजना।

बस यही थी मेरी जिंदगी  में आज की सिख....

रविवार, 10 फ़रवरी 2019

सब कुछ छोड़ जाने को ~ poetry in hindi


सब कुछ छोड़ जाने को ~ poetry in hindi 

सब कुछ छोड़ जाने को ~ poetry in hindi
सब कुछ छोड़ जाने को ~ poetry in hindi 

पता नहीं क्यों दिल कहता है

रिश्ते नाते सब से तोड़ जाने को
सुने हुए सारे कड़वे लब्ज भूल कर ,
एक नई उम्मीद के साथ दिल कहता है
सब कुछ छोड़ जाने को ,

एहसास नहीं है इस रास्ते का अंजाम
फिर भी आज दिल कहता है ,
सब कुछ छोड़ जाने को ,


Poetry for Bitterness


सचमुच गिला नहीं है मुझे अपनों से ,
गिला है मुझे गैरों की आदतों से ,
उनकी दिल जलाने वाली बातों को
सुनकर दिल बार बार कहता है

ऐसा नहीं है कि मैं कोशिश नहीं करता
आदतों में ढलने के लिए , फिर भी
एक वक्त के बाद दिल फिर कहता है
सब कुछ छोड़ जाने को ,

जानता हूं इन बातों से शिकवा नहीं करते
मगर काश यह बात दिल भी जान लेता
तब शायद दिल नहीं कहता
सब कुछ छोड़ जाने को ,

बस यही थी मेरी जिंदगी में आज की  कविता ।

मंगलवार, 15 जनवरी 2019

शुक्रवार, 11 जनवरी 2019

ये दुनिया इतनी भी बुरी नही है motivational poetry in hindi for youth

motivational poetry in hindi for youth , life motivational poetry in hindi, small motivational poem in hindimotivational poem in hindi, 

ये दुनिया इतनी भी बुरी नही है motivational poetry in hindi for youth

जिंदगी से जुड़ी प्रेणादायक कविता Life is attached Cheerful poem
ये दुनिया इतनी बुरी नही है 


ये दुनिया इतनी बुरी नही है 

किसी अजनबी से बात करके तो देखो ,
अपने झिझक से आगे बढ़कर तो देखो ,
किसी अनजान को मुसकुराहट देकर तो देखो ,
कुछ रूठे को चाहत देकर तो देखो ,

रोते हुए आये थे  मगर 
रोते हुए जाएंगे ऐसा जरूरी नही है ,
क्यों कि यह दुनिया इतनी भी बुरी नही है ,

कुछ पुराने ख्वाबो को हिलाकर तो देखो ,
अचानक उनको फोन लगाकर तो देखो ,
कुछ पुराने जख्म को साफ करके तो देखो ,
खुदको और दूसरों को माफ करके तो देखों ,

मंगलवार, 18 दिसंबर 2018

Tu chal - motivational and inspiration poetry by amitabh bachchan

Tu chal :- this is the one of the best motivational and inspiration  poetry by amitabh bachchanamitabh bachchan poem in hindi

Tu chal - motivational and inspiration poetry by amitabh bachchan


आज हम अमिताभ बच्चन की कविता लिखेगे। मतलब मैं लिखुगा और हम पढेंगे साथ में। ये poetry बहुत ही प्रख्यात है इसलिए बहुत सारे लोगो ने इसे अपने ब्लॉग में लिखा है लेकिन मैं peotry को कॉपी करना नही चाहता मैं peotry की लाइन्स के साथ इस तरह से छेड़छाड़ करूँगा की मतलब भी एक रहे और peotry भी याद रहे।

तु चल - अमिताभ बच्चन की सर्वश्रेष्ठ प्रेरणादायक शायरी
तु चल - अमिताभ बच्चन की सर्वश्रेष्ठ प्रेरणादायक शायरी 

amitabh bachchan poem in hindi


तू अपनी तलाश में निकल
किस लिए हताश है ,
तु चल , तेरे अस्तित्व की वक़्त को भी तलाश है ,

लिपटी है तुझसे जो बेड़िया
वस्त्र समझना इसको तु ,
निकालकर यह बेड़िया
शस्त्र इसको बना ले तू ,
तु चल , तेरे अस्तित्व की वक़्त को भी तलाश है ,

जब पवित्र है चरित्र तेरा
तब दशा क्यों है ये तेरी ,
इजाजत नही इन पापियों को ,
कि ले वह इंतहान तेरी ,
तु चल , तेरे अस्तित्व की वक़्त को भी तलाश है ,

भस्म करदे जलाकर उसे
जाल है जो क्रूर का ,
दिया नहीं तु आरती का
मिसाल है तू क्रोध की ,

तू अपनी तलाश में निकल
किस लिए हताश है ,
तु चल , तेरे अस्तित्व की वक़्त को भी तलाश है ,

अमिताभ बच्चन की कविता का तो पता नहीं लेकिन हरिवंश राय बच्चन की कविता बहुत ही अच्छी होती हैं लेकिन अफसोस कि मुझे वह कविताएं समझ में नहीं आती लेकिन जिस दिन मुझे हरिवंश राय बच्चन की कविता समझ में आए उस दिन में कविता जरूर लिखूंगा।

देखते हैं किस उम्र में जाकर मुझे हरिवंश राय बच्चन की कविताएं समझ में आती है जिस दिन समझ में आए उस दिन लिखूंगा लेकिन उससे पहले मुझे बहुत कुछ पढ़ना पड़ेगा वक्त के साथ-साथ धीरे-धीरे सीख लूंगा क्योंकि सब कुछ आसान है अगर कोशिश करें तो।

हरिवंश राय बच्चन की एक पंक्ति मुझे आज भी समझ में आती है कि...

 कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती

बस यही थी मेरी जिंदगी में आज की सिख....