शुक्रवार, 18 जून 2021

Motivational story on long lasting relationship in hindi

here i have a beautiful motivational story on long lasting relationship in hindi, long lasting relationship story by gopal das, secret of long lasting relationship, 

Motivational story on long lasting relationship in Hindi


हर इंसान को अपने बोस से ये कहने में झिझक होती है की बोस हमारी सैलेरी बढ़ा दो क्योंकि हर कोई नटुकाका जैसा नहीं होता जो सीधे सीधे जेठालाल से सैलरी की बात करें, 

long lasting relationship story by gopal das


long lasting relationship story by gopal das

एक दिन एक पति ने अपनी पत्नी से कहा की आज तो में बोस से अपनी पगार के बारेमें बात करके रहूँगा, पति ऑफिस गया और बड़ी महेनत इकठा कर के अपने बोस की केबिन में गया अपनी पगार के बारेमें बात करने के लिए, भाग्य से बोस ने उनकी पगार बढ़ा भी दी, 

पति बहुत खुश हुआ और एक फ्लावर का गुलदस्ता लेकर अपने घर आया, वहा उसने देखा की उसकी पत्नी ने पूरा घर सजाकर रखा था, टेबल पर कैंडल जल रही थी और बहुत सारी अलग अलग खाने की आइटम भी रखी हुई थी, पति को लगा की किसी ऑफिस के साथी ने फ़ोन करके बता दिया होगा, 

पति किचन में गया और अपनी पति को ये बातें बताई और वापस जाकर खाने के डायनिंग टेबल में बैठ गया, वहाँ पर उसने एक पत्र देखा और पढ़ना शुरू किया जिसमें लिखा था “मुझे पता था की तुम्हें अपनी महेनत का इनाम मिलेगा तुम्हारी सैलरी बढ़ेगी, ये सब खाना सजावट के जरिए मैं तुम्हें बताना चाहती हु की मैं तुमसे कितना प्यार करती हु" 

पत्नी किचन से आई और अपने पति को खाना परोसा, जैसे ही वह किचन की और जाने लगी उनकी एप्रोन से एक पत्र गिर गया, पति ने उसे उठाया तो उसमे लिखा था “चिंता मत कीजिए क्योंकि अगर आपकी सैलरी नहीं भी बढ़ी फिर भी आप बहुत ज्यादा डिज़र्व करते है, ये खाना, सजावट का बस इतना मतलब है की मैं आपसे बहुत प्यार करती हु मेरा प्यार आपकी सैलरी पर निर्भर नहीं करता"

secret of long lasting relationship


पूरी तरह से स्वीकार करना बिना किसी कंडीसन के साथ ऐसे रिश्ते ज्यादा वक़्त तक टिकते है, अगर पूरी दुनिया हमारे ख़िलाफ़ हो जाये लेकिन एक इंसान है जिसे हमारी ऊपर विश्वास है भरोसा है और जिसे हमारी कामयाबी से कोई लेना देना नहीं है तो हम वहा पहोच सकते है जहा हमें पहोचना है, 

सबसे बड़ी प्रॉब्लम तो ये है की ऐसे लोग मिलते कहा है, कभी कभी ऐसा लगता है की ऐसे लोग होते भी है या नहीं और ऐसा होना जायज है क्योंकि वक़्त ही ऐसा चल रहा है लेकिन फिर भी हमें ऐसे लोग मिल सकते है लेकिन उसके लिए हमें अपने आसपास देखना पड़ेगा क्योंकि टीवी और बहार की दुनिया में ऐसे लोग तो है लेकिन आपके लिए नहीं है, 

बस यही है मेरी जिंदगी की आज की सीख...


मंगलवार, 15 जून 2021

Story of virat kohli father | विराट कोहली की कहानी

Story of virat kohli father | विराट कोहली की कहानी

महेंद्र सिंग धोनी की ऊपर जो मूवी बनी वो तो सबने देख ली होगी और सबको पता चल गया होगा की कितनी महेनत के बाद इंसान धोनी बनता है क्योंकि धोनी भारत का अब तक का सबसे सफल कैप्टन है क्योंकि उन्होंने icc की तीनों ट्रॉफी जीती और ऐसा करने वाला अब तक तो एक ही कप्तान है लेकिन अगर विराट के ऊपर अगर कोई मूवी बनी तो उसमे एक बात का जिक्र सबसे पहले होगा, विराट कोहली और उनके पापा की कहानी,

सच कहू तो मुझे विराट कोहली बेस्टमेन के रूप में सबसे खतरनाक लगते है लेकिन उनकी कैप्टेंसी मुझे अच्छी नहीं लगती इसके पीछे का बस एक ही कारन है वर्ल्ड कप 2019 का सेमि फाइनल जिसमे उन्होंने 4 विकेट गिरने के बाद भी धोनी जैसे अनुभवी बल्लेबाज को क्रीज़ पर नहीं भेजा और जब भेजा तब बहुत देर हो चुकी थी उसके बाद धोनी का रन आउट होना धोनी के आँसू सबने देखें और विराट के इसी डिसिशन का उस वक़्त बहुत तिरस्कार हुआ था, 

बहुत से लोग कहते है की गलती तो सबसे होती है लेकिन एक्सपर्ट कहते है की गलतियां करने के लिए 4 साल होते है वर्ल्ड कप में गलतियां करने की कोई गुंजाइश नहीं होती, ये सब देख कर करोडो हिंदुस्तानी को दुःख हुआ जिसमे मैं भी था लेकिन विराट की इस कहानी ने वापस दिल जित लिया अब तो बस यही आशा है की एक वर्ल्ड कप विराट के नाम पर भी हो,

Story of virat kohli father | विराट कोहली की कहानी


Story of virat kohli father | विराट कोहली की कहानी

दिल्ली कलकत्ता का टेस्ट मैच था, टेस्ट मैच पाच दिन का होता है वह तो सबको पता ही होगा ऐसा जरुरी है है क्योंकि मेरा एक दोस्त ड्रीम11 पर टीम बनाता है उसने एक बार टेस्ट मैच में टीम बनाई लेकिन रात तक जब मैच का रिजल्ट नहीं आया तो मुझसे आकर पूछने लगा की ये मैच तो ख़तम ही नहीं हो रहा, 

मैंने उससे कहा की ये मैच पांच दिन तक चलेगा, मतलब कहने का इतना है की कुछ ऐसे लोग भी होते है जिसको पता नहीं होता की टेस्ट मैच क्या होता है और उसमें उनकी भी गलती नहीं है क्योंकि जमाना T20 का है, 

Story of virat kohli father | विराट कोहली की कहानी

तो दिल्ली और कलकता का टेस्ट मैच था पहले दिन विराट कोहली खेलने उतरे 46 नॉट आउट होकर वापस लौटे अगले दिन उसे वहा से वापस खेलना था लेकिन रात को तक़रीबन 3 बजे विराट कोहली के पापा का अवसान हो गया, विराट कोहली को कुछ नहीं समझ आ रहा था और नाही आँखों से आँसू निकल रहे थे वह बेबाक हो चुके थे जिसका जिक्र उन्होंने अपने इंटरव्यू में किया है, 

सुबह पांच बजे उसने अपने कोच को फ़ोन किया और कहा की ऐसा सब कुछ हुआ है क्या करू, तब कोच ने कहा की जो होना था वह तो हो गया है लेकिन अब जो करना है वह तुम्हारे हाथ में है लेकिन कुछ भी सोंचने से पहले ये याद रखना की टीम को तुम्हारी जरुरत है, 

विराट कोहली अपना किट लेकर मैच के ग्राउंड में गए और अपने साथी को अपने पापा की कहानी बताई लेकिन सब उनका मजाक उड़ाने लगे सबको लगा की विराट झूठ बोल रहा है लेकिन विराट क्रीज पर गए और 96 बनाकर वापस लौटे, 

जब वापस लौटे तब तक सबको पता चल गया था की विराट के साथ क्या हुआ, विराट ड्रेसिंग रूम में जाकर बहुत रोए और उसके बाद घर जाकर अपने पापा का अंतिम संस्कार किया, शायद ही कोई सोच सकता ही विराट के मन में तब क्या चल रहा होगा जब वह क्रीज पर गए थे, शायद यही होता है अपने पैशन के प्रति सही लगाव जो सबको होना चाहिए और शायद यही कारन है विराट के विराट होने का, 

ऐसी ही कहानी क्रिकेट के पिता सचिन तेंदुलकर की है लेकिन मुझे ज्यादा जानकारी नहीं है, विराट का तो इंटरव्यू मिल गया था इसलिए यह बात जानने मिली, सचिन के इंटरव्यू भी देख रहा हु अगर उनके मुँह से कहानी सुनने मिली तो अच्छा रहेगा। 



बस यही है मेरी जिंदगी की आज की सीख...


गुरुवार, 10 जून 2021

Sunil chhetry motivational speech for student

Sunil chhetry motivational speech for student 

मुझे कल मेरा दोस्त पूछ रहा था की फुटबॉल दुनिया का नंबर 1 स्पोर्ट है फिर भी हम इंडियन फुटबॉल के किसी भी खेलाड़ी को नहीं जानते ऐसा क्यों.. क्या हमारे देश से कोई फुटबॉल नहीं खेलता, 

मैंने उससे कहा की फुटबॉल तो हमारे खेलाड़ी भी खेलते है लेकिन हमारे लोगों को रोनाल्डो और मैसी जैसे खेलाड़ी ही पसंद है इसलिए वो हमारी फुटबॉल टीम को नहीं जानते वरना हमारे पास सुनील छेत्री जैसे खेलाड़ी है जो दुनिया के दूसरे नंबर के सबसे ज्यादा इंटरनेशनल गोल करने वाले इंसान है, 

आज से कुछ साल पहले सुनील छेत्री ने एक वीडियो अपलोड किया था जिसमे उन्होंने ने भारत की जनता को हाथ जोड़कर यह निवेदन किया था की आप हमें सपोर्ट करने स्टेडियम में जरूर आए, आपको जितनी शिकायत इंडीयन फुटबॉल टीम से हे वह सब आप हमें सामने आकर बताये हमारी आलोचना करे लेकिन कम से कम हमें सपोर्ट करे, इसी महान खेलाड़ी की एक सबसे महत्वपूर्ण स्पीच है जिसमें एक बहुत अच्छी सीख है, 

Sunil chhetry motivational speech for student

सुनील छेत्री कहते है की 18 से 30 साल की उम्र ऐसी है जिसमे सब लोग हमें सलाह देने आते है काका, मामा, मौसा, फुफा, दूधवाला, गेटकीपर सब लोग हमें सलाह देते है, हर जगह सलाह सुनने मिलती है बेकार से बेकार इंसान भी सलाह देकर चला जता है, इन सब लोगो के साथ मैं यानि सुनील छेत्री भी आपको एक सलाह देना चाहता हु,

मेरी सलाह आपसे यही है की सुनो सबकी लेकिन करो आपके मन की क्योंकि हमारे निर्णय हमारे होंगे तभी हम कभी दुसरो को सलाह नहीं देंगे, हमें एक आदत अपने अंदर डालनी है की हम लोगों के सवाल के जवाब दे लेकिन कभी सलाह किसी को न दे, इसी तरह सब लोग बदल जाएंगे लेकिन शुरुआत आपसे होगी,

सुनील छेत्री ने कहा की अगर आपको कुछ ऐसा करना है जो आपके परिवार में कोई नहीं कर पाया तो आपको कुछ ऐसा करना पड़ेगा जो आपके परिवार में से किसी ने नहीं किया इसलिए आपका रास्ता अलग होना चाहिए और इसलिए कोई नहीं है जो आपको सलाह दे सकें, 

आप शिक्षा से अपनी सोच डेवेलोप करनी है और खुद रास्ता बनाना है और उन लोगो को सुनना है जिसने आपके सपने को पहले पूरा किया था, सुनील छेत्री ने अपनी पूरी स्पीच में सलाह नाम के टॉपिक का अच्छा वर्णन किया, 


बस यही है मेरी जिंदगी की आज की सीख...

शुक्रवार, 14 मई 2021

Amazing fact about bill gates in Hindi | great people thoughts

Amazing fact about bill gates in Hindi | great people thoughts 


अभी हाल ही में कुछ ऐसी बाते पता चली जो सच लगती नहीं लेकिन इधर उधर से रिसर्च करके पता चला की सच है, सब उन लोगो की बाते है जिन्हें हर इंसान फॉलो करता है और सबसे के सब चौकाने वाली बाते है, 

4 amezing story on bill gates in Hindi 

Amazing fact about bill gates in Hindi | great people thoughts


बिल गेट्स की बेटी एक दिन होटल में खाना खाने गई, जब वापस अपने घर जा रही थी तब उसने वैटर को 500 डॉलर टिप दिया जो तक़रीबन 35 हजार के आसपास होता है, एक दिन उसी होटल में बिल गेट्स भी खाना खाने गए लेकिन उन्होंने उस वैटर को 5 डॉलर टिप दिया जो 350 रुपये के बराबर था, 

अब वैटर दोनों बार एक ही क्यों थे वो तो मुझे नहीं पता लेकिन इतना पता है की जब वैटर ने बिल गेट्स से पूछा की आपकी बेटी ने 500 डॉलर टिप दी लेकिन आपने सिर्फ 5 डॉलर क्यों? तब बिल गेट्स ने जो जवाब दिया वो हमारे काम का है, बिल गेट्स ने कहा की मेरी बेटी इस दुनिया के सबसे अमीर इंसान की बेटी है इसलिए उसने 500 डॉलर दिए और में आज भी एक साधारण स्कूल के मास्टर का बेटा हु, 

बिल गेट्स जो 13 साल तब दुनिया का सबसे अमीर आदमी बना रहा उसने कभी अपने आपको दुनिया का सबसे अमीर आदमी नहीं समझा क्योंकि जब बचपन में उनके पास अख़बार खरीदने के पैसे नहीं थे तब अक्सर एक अख़बार वाला उसे मुफ़्त में अख़बार दे दिया करता था।

जब बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर आदमी बने तब उसे उस अख़बार वाले की याद आई और वह उसके पास गए और कहा की आज में दुनिया का सबसे अमीर आदमी हु बताव में तुम्हारे लिए क्या कर सकता हु तब उस दुकानदार ने कहा की मैंने तुम्हारी तब मदद की थी जब मेरे पास कुछ नहीं था और तुम मेरी तब मदद कर रहे हो जब तुम्हारे पास सब कुछ है इसलिए तुमसे ज्यादा अमीर तो में हु, बस यही बात बिल गेट्स को छु गई और इसका जिक्र उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में भी किया था। 

एक बात तो ऐसी है जो वाकई गजब है जिस पर भरोसा करना नामुमकिन है लेकिन बात सच है, एक बार बिल गेट्स को किसी रिपोर्टर ने पूछा की आप इतने अमीर कैसे बने, आपके पास इतने सारे पैसे है इसकी क्या वजह है, तब बिल गेट्स ने एक चेक लिया उसमें साइन की और रिपोर्टर को कहा की जितनी चाहे उतनी रकम लिख दो,

अब इंटरव्यू लाइव था रिपोर्टर ने चेक लेने से मना कर दिया तब बिल गेट्स ने कहा की मेरी कामयाबी का सबसे पहला कारन यही है की में कभी opportunity को मिस नहीं करता जैसे अभी आपने की है, 

बस यही है मेरी जिंदगी की आज की सीख़...

रविवार, 9 मई 2021

Manushi chhillar speech on mother in miss world 2017

Manushi chhillar speech on mother in miss world 2017

मेरे नसीब में कोई भी दुःख ना होता,
अगर नसीब लिखने का हक़ मेरी माँ के पास होता। 

आख़री बार भारत की मानुषी चिल्लर ने 2017 में मिस वर्ल्ड का खिताब जीता था और जब उन्हें फाइनल में एक सवाल पूछा गया और आज mother's day के अवसर पर मुझे वही जवाब याद आ रहा है, सवाल ये था कि दुनिया का कौनसा प्रोफेशनल सबसे ज्यादा पैसा डिज़र्व करता है तब उन्होंने कहा था कि दुनिया मे सबसे ज्यादा पैसा माँ डिज़र्व करती है और पैसा तो बहुत छोटी चीज़ है, 

Manushi chhillar speech on mother in miss world 2017

हमारे देश में पूरा दिन घर का काम करने वाली एक हाउसवाइफ के काम की कोई चर्चा ही नही करता है, इतना ही नही उनके काम को कोई काम ही नही कहता, जब हम पर सारा काम आता है तब हमें अहेसास होता है और हर बार की तरह तब देर हो जाती है,

हमारे अडोस पड़ोस में एक ऐसी मा होगी जो अपने बच्चे को पूरा दिन संभालती है अगर हम कुछ दिन उस मा को ऑब्जर्व करने जाए तो हमे पता चलेगा कि उस मा को इस बात की सैलरी मिलनी चाहिए, 

आपको पता है दुनिया में सबसे ज्यादा दर्द किसकी वजह से होता है, तलवार की घाव से, रेल के पटरियों के निचे आने से, फाँसी खाते वक़्त, बिच्छु काटने पर, कुत्ते के काटने पर...

ऐसी चीज़े जिसमें इंसान को सबसे ज्यादा दर्द होता है उसमे पहले नंबर पर आता है आग में जलने ने और दूसरे नंबर पर आता है उस माँ का नाम जो अपने बच्चे को जनम दे रही होती है, 

शायद इसलिए शैलेश लोढ़ा कहते है की मैंने कभी माँ के ऊपर कविता लिखी ही नहीं क्योंकि दुनिया की किसी भी कलम में इतनी ताकत ही नहीं है की वह माँ पर कुछ लिख सके, 

बस यही है मेरी जिंदगी की आज की सीख...

सोमवार, 8 मार्च 2021

5 mother teresa quotes in hindi on peace

 

5 mother teresa quotes in hindi on peace

बिता हुआ कल बीत गया।
आनेवाला कल अभी तक नहीं आया।
हमारे पास सिर्फ आज है तो इस पर ध्यान केंद्रित करें,

हम सब कुछ बड़ा नहीं कर सकते,
लेकिन हम खुशी के साथ 
छोटी छोटी चीज़े कर सकते है।

हम विश्व में शांति फैलाने के लिया क्या कर सकते है,
बस घर जाइए और अपने परिवार में शांति रखें।

मैं चाहती हु की आप अपने पड़ोसी के लिए चिंतित रहे,
क्या आप अपने पड़ोसी को जानते है।

शांति की शुरुआत एक मुस्कुराहट से होती है,

5 mother teresa quotes in hindi


मैं ख़ुद तो नहीं बदल सकती दुनिया को लेकिन
एक पथ्थर ऐसा जरूर फेक सकती हु जिससे लहरें उठे और
वो लहरें पूरी दुनिया को बदल दे,

अकेला इंसान सब कुछ बदल तो नहीं सकता लेकिन बदलाव की शुरूआत कर सकता है और यही मानना था मदर टेरेसा का जिसे दुनिया के महान देशों के सबसे महान अवार्ड से सम्मानित किया गया है तकरीबन बहुत सारे देशों की नागरिकता मिली हुई है जिसके नाम से आज अवार्ड मिलते हैं,

इसमें से सबसे कॉमेडी बात पता है क्या है अमेरिका और रशिया जैसे बड़े देशों ने शांति में योगदान देने के लिए मदर टेरेसा को अपने देश बुलाया और उसको अपने देश का सबसे उच्च यानि की सबसे बड़ा अवार्ड दिया लेकिन मदर टेरेसा से कुछ सीखा नहीं। विश्वास नहीं हो रहा है तो आज का ही अखवार उठा लो।

बदलाव होने में बहुत वक्त लगता है लेकिन जिन्होंने बदलाव की चिंगारी लगाए होती है उसको वह बदलाव दिखने नहीं मिलता जैसे कि भारत को आजाद कराने की चिंगारी मंगल पांडे, भगत सिंह, सुखदेव और नेताजी जैसे महान लोगों ने लगाई थी लेकिन आजाद भारत को देख नहीं पाए।

एक बहुत अच्छा सवाल सबके दिमाग में होता है कि अगर हम आज कुछ अच्छा करते हैं तो हमारे आने वाली पीढ़ी भी हमें देख कर अच्छा करेगी और ऐसे ही कड़ी बनती जाएगी और एक दिन पूरी दुनिया अच्छी हो जाएगी लेकिन जिस अच्छाई की शुरुआत हम करते है उसको हम देख नहीं पाते तो उसका फायदा क्या है और शायद इसी लिए हम अच्छी चीजों को करना नहीं चाहते।

हम जब भी कुछ अच्छा करते हैं तो हमें अच्छा लगने लगता है और फिलहाल अभी के लिए हमारा फायदा यही है,  शुरुआत करते हैं क्या पता बदलाव अचानक हो जाए जिसका फायदा हमें भी होने लगे।

बस यही है मेरी जिंदगी की आज की सीख...