सोमवार, 21 जून 2021

Problems are the sign of life

problems are the sign of life 

जब तब जिंदगी है समस्या रहेंगी जिस दिन समस्या नहीं होगी उस दिन जिंदगी ख़तम हो जायेगी, दुनिया की सबसे बड़ी सच्चाई ये है की दुनिया के हर इंसान की जिंदगी में परिसानीया है, 

गरीब से गरीब इंसान को जितनी परिसानी है उतनी ही... ना थोड़ी कम ना थोड़ी ज्यादा परिसानी दुनिया के अमीर से अमीर इंसान को भी है बस परिसानी की वजह बदल जाती है, गरीब इंसान को दो वक़्त की रोटी की चिंता होती है और अमीर इंसान को तरक्की की चिंता होती है, 


हर sports पर्सन को ये चिंता होती है की अगले मैच में क्या होगा, हर एक्टर को ये चिंता होती है अगली फ़िल्म का क्या होगा, हर साइंटिस्ट को ये चिंता होती है की अगले परीक्षण का क्या होगा, हर डॉक्टर को ये चिंता होती है की उनके मरीज का क्या होगा, ये सब समाज के उच्च स्तर के इंसान है अगर इनके जिंदगी में समस्या है तो सबके जीवन मे समस्या है, 


साऊथ की एक बहुत अच्छी एक्ट्रेस है रसमीका मंधाना कर के, उसने अपने एक इंटरव्यू में बहुत अच्छी बात बोली थी की “आप किसी से भी पूछो क्या हाल है सब बतायेगे की बढ़िया है लेकिन एक बार उनके घर जाकर देखो पूरा माहौल डिप्प्रेसन से भरा दिखेगा" 


लेकिन कुछ लोग है जो परिसान नहीं है और वह रहते भी इसी ग्रह में है और उनकी ख़ुसी का राज तो बहुत बढ़िया है जो आज मुझे पता चला है, दरहसल दुनिया में उन लोगों को कोई परिसानी नहीं है जिनको पता है की बिना परिसानी के जीवन का कोई मॉल नहीं है और दुनिया के हर इंसान के जीवन में परिसनिया है, इसलिए ये लोग प्रॉब्लम को इग्नोर करते है और सोल्यूसन पर ध्यान देते है और इसलिए इनकी जिंदगी में प्रॉब्लम होते हुए भी नहीं है,


problems are the sign of life


एक बात है जो कड़वी है लेकिन सच है और दुनिया के 99% लोगों पर लागु पड़ती है की हमारे दुःख का सबसे बड़ा कारन तो सामने वाली की ख़ुसी है यानि की अगर हमारे सामनेवाला इंसान खुश है तो हम दुखी हो जाते है लेकिन अगर हमको ये बात पता हो की सामनेवाला चाहे जितना खुश दिखे फिर भी उनके जीवन में आपके जितनी ही परिसानी है तो क्या हम किसी भी ख़ुश इंसान को देखकर दुखी होंगे,


तो आगे से इस बात को हमेसा मुझे याद रखनी है की जितनी परिसनिया मेरी जिंदगी में उतनी ही सबकी जिंदगी में है इसलिए एक दूसरे की परिसनिया हल करने में ही भलाई है, 


बस यही है मेरी जिंदगी की आज की सीख....

0 comments:

Share your experience with me