रविवार, 10 जनवरी 2021

असंभव कुछ नहीं है | 5 story on nothing is imposible

Here I share some great people great achievement about nothing is impossible in this world and also talk about what is the meaning of nothing is impossible, 5 story on nothing is impossible, 

असंभव कुछ नहीं है | 5 story on nothing is imposible 

आज कुछ ऐसे महान आत्मा के बारेमे जानने का मौका मिला जिसने इस बात को साबित कर दिया कि इस दुनिया में असंभव कुछ नही है। एक के बाद एक सब की बात करेंगे।

nothing is impossible


असंभव कुछ नहीं है | 5 story on nothing is imposible

आप लोगों ने रामायण तो देखी ही होगी लेकिन आपको यह नहीं पता होगा कि रामायण का जिन्होंने म्यूजिक दिया था उस इंसान को बचपन से ही दिखाई नहीं देता था वह बचपन से ही अंधे थे उस इंसान का नाम है रविंद्र जैन। 

अभी आप में से बहुत सारे लोग सोचेंगे कि म्यूजिक को तो सुनकर सीखा जा सकता है इसलिए देखने का और म्यूजिक का कोई संबंध नहीं है इसलिए इसमें कोई बड़ी बात नहीं है अब मैं आपको एक ऐसे इंसान का परिचय करवाता हूं जिसको सुनाई नहीं देता था लेकिन दुनिया के महान संगीतकार बने। 

Beethoven एक ऐसे इंसान थे जिसको बचपन से सुनाई नही देता था लेकिन फिर भी इतिहास के सबसे महान संगीतकार बने और साथ मे महान चित्रकार भी बने। wikipedia पेज भरा पड़ा है इनकी तारीफों से।

एक मील की दौड़ का रिकॉर्ड 4 मिनिट से ज्यादा का है उसे तोड़ना इंसानों के लिए असंभव है ये बात मैं नही कर रहा हु ये बात ब्रिटिश ओलपिंक कोच harry Andrews ने 1903 में कही थी। लेकिन एक इंसान ने उनकी बात को अनसुना किया जिसका नाम था Roger Bannister और इसने 1954 में 1 मील को 3 मिनट 59.4 पूरा किया। 

तकरीबन 52 साल लगे इस रिकॉर्ड को ब्रेक करने में क्योंकि सबके दिमाग मे उस महान कोच की वाणी गूँजती थी। लेकिन जब एक इंसान ने इस असंभव काम को संभव कर दिया तब उसके सिर्फ 46 दिन के बाद John landy ने उसका भी रिकॉर्ड तोड़ दिया और एक मील को 3 मिनिट 59 में कंप्लीट किया क्योंकि अब उसके दिमाग मे कोच की बात नही थी उसके दिमाग मे Roger bannister थे जिसको देखकर उसे पता चल गया था को असंभव कुछ नही है। आपको जानकर हैरानी होगी कि आज की तारीख मे 1 मिल का रिकॉर्ड 3:43.13 है। 

what is the meaning of nothing is impossible


2963 वन डे मैच खेले जा चुके थे तब तक सबको लगता था कि वन डे मैच में 200 स्कोर नही हो सकता। सबको लगता था कि वन डे मैच में एक व्यक्ति अकेला 200 रन करे ये असंभव था लेकिन 2010 में पहली बार सचिन तेंदुलकर ने 200 रन वन डे जड़ दिए। 

अब सबको पता चला गया कि वन डे मैच मे भी 200 रन किये जा सकते है और उस घटना के 16 महीने बाद ही वीरेंद्र सहवाग ने भी 200 रन थोक दिए। अब सबके दिमाग सचिन और सहवाग था जसका खामियाजा ये हुआ कि रोहित शर्मा ने दो बार 200 जड़ दिए। 

उसके बाद गेल और मार्टिल गप्टिल ने भी कर दिखाया और आगे भी होते रहेंगे क्योंकि सबको पता चल गया है कि वन डे मैच में 200 रन करना असंभव नही है।

Wilma Rudolph को पोलियो था डॉक्टर में बोला कि तू नही चल पाएगी लेकिन उन्होंने डॉक्टर की बात अनसुना किया और ओलम्पिक में 4 गोल्ड मेडल जीते। ऐसे किस्से को बहुत बड़ी लिस्ट है जो खत्म नही होने वाली। 

महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन का किस्सा तो बहुत बड़ा है इसके लिए आपको उनकी बायोग्राफी पढ़नी पड़ेगी। लेकिन अगर इन सारी रामायण या महाभारत को एक लाइन में लिखे तो कुछ इस तरह कहा जा सकता है कि अगर आपको कोई काम करना है और वह काम दुनिया के किसी भी इंसान ने किया है तो वह हम भी कर सकते है। 

बस यही है मेरी जिंदगी की आज की सिख...

0 comments:

Share your experience with me