मंगलवार, 15 दिसंबर 2020

motivational story in hindi | motivational kahani

short motivational stories in hindi with moral, short motivational story in hindi, motivational story in hindi for success, motivational kahani 

motivational story in hindi | motivational kahani


एक कसाई का घर था जिसमें एक चूहा, कबूतर, मुर्गा और एक बकरा रहता था। चूहा कसाई को बहुत परेशान करता था इसलिए एक बार कसाई ने सोचा कि मैं चूहादानी लेकर इस चूहे को मार डालूंगा। 

जब चूहे को यह बात पता चली तो चुहा सबसे पहले कबूतर के पास गया और कहने लगा की “कसाई मेरे लिए चूहेदानी लेने गया है और वह मुझे मार देगा", कबूतर ने बोला “यह तेरी प्रॉब्लम है यह तुम मुझे क्यों बता रहा है मुझे इससे कोई लेना देना नहीं है"

ये सुनने के बाद परेशान चूहा मुर्गे के पास गया और मुर्गे को जाकर बोलने लगा कि “आज कसाई मेरे लिए चूहादानी लेने गया है और वह मुझे मार डालेगा", मुर्गे ने भी बोला कि “इससे मेरा कोई लेना देना नहीं है इसलिए मुझे इस से दूर रखो"

आखिर परेशान होकर चूहा बकरे के पास गया और उसे गिड़गिड़ाते बोला “प्लीज मेरी मदद करो आज कसाई चूहादानी लेने गया है मुझे मारने के लिए", बकरे ने हंसते हुए बोला कि “इसमें मैं तेरी क्या मदद करू तू अपनी खुद देख ले"


short motivational stories in hindi with moral


कुछ वक्त बाद कसाई चूहेदानी लेकर आया और उसने अपने घर में चूहे दाने रख दी। 

रात को अचानक खट से आवाज आए, कसाई की बीवी को लगा कि चूहा चूहादानी में फस गया है वह चूहा दानी के पास जाने वाली थी अचानक उसे सांप ने काट लिया, जब कसाई अपनी बीवी को पास के वैध (Doctor) के पास लेकर गया तो उसने उससे कहा कि अगर तुम इसे कबूतर का सूप पिलाओगे तो वापस ठीक हो जाएगी, कसाई ने अपने कबूतर का सूप बनाकर अपनी बीवी को पिला दिया। 

थोड़ी देर बाद उसकी बीवी ठीक हो गई। कसाई ने अपनी बीवी के ठीक होने की खुशी में मुर्गा काटा और खा गए। जब पड़ोसी को पता चला कि उसकी पत्नी ठीक हो गई है तो सब पार्टी मांगने घर आये और कसाई ने पार्टी में बकरा बनाया। 

कबूतर, मुर्ग़ा और बकरा तीनो चले गए, यही तीनो लोग जब चूहे को समस्या आई थी तब चूहे का साथ नही दे रहे थे। 

जब भी लोग हमारे पास आकर अपनी समस्या बताई तो उसे नज़रअंदाज़ नही करना चाहिए क्योंकि वही समस्या कल हमें भी आ सकती है। मदद ना कर पाए तो कोई बात नही लेकिन हँसना नही चाहिए क्योंकि समय का चक्र जब घूमता है तो सारे काटे हम पर ही आकर रुकते है। 

motivational story in hindi | motivational kahani


बस यही है मेरी जिंदगी की आज की सीख...

 

0 comments:

Share your experience with me