Search here

मंगलवार, 31 दिसंबर 2019

मेरी इकलौती जिंदगी क्या ऐसे ही कट जाएगी inspirational new year 2020 poem

मेरी इकलौती जिंदगी क्या ऐसे ही कट जाएगी inspirational new year 2020 poem


मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,
लाखों सपने जो पाले हैं
मन में ख्वाब निराले...
कुछ पाने की चाहत है
न जाने जिंदगी मुझे कहा ले जाएगी, 
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,

यह साल भी देखो बीत गया,
गाते गाते गीत नया,
मेरे जीवन की नैया...
मुझे कैसे पार लगाएगी,
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,

Motivational new year 2020 poem


Motivational poem on happy new year 2020
Happy new year 2020

मेरा भी दिल करता है कि
काम करू कुछ बहुत बड़ा,
मेहनत को मैं हु तैयार,
किस्मत से भी मैं बहुत लड़ा,
बस हार नहीं मानूंगा मैं
चाहे जिंदगी कितना भी रुलाएगी,
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,

सुनो मुश्किलों बात मेरी अब,
नही डरुगा तुम सब से,
चाहें हारू हजार बार मै पर !
खूब लडूंगा जीभर के,
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी,

तुमको क्या लगता है
मैं कायर हु या हु डरपोक,
मैं हु माली अपनी बाग का !
फूल ख़िलावूगा अब जम के,
बाग की तरह मेरी भी जिंदगी !
हजारो फूल खिलाएगी,
मेरी इकलौती जिंदगी
क्या ऐसे ही कट जाएगी, 

बस यही थी मेरी जिंदगी  में आज की सिख....

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Share your experience with me