Search here

मंगलवार, 15 अक्तूबर 2019

मेरे सिंगल होने की कहानी why I am still single


मेरे सिंगल होने की कहानी why I am still single 


एक सवाल है जो लोग हमेशा मुझे पूछा करते हैं कि तुमने कभी कोई girlfriend क्यों नहीं बनाई, सवाल बहुत ही खूबसूरत है but इसका जवाब बहुत ही मजेदार है इसलिए  सोचा कि क्यों ना इस सवाल का जवाब आप सब लोगों के साथ शेयर करू,

पहली क्लास से लेकर दसवीं क्लास तक तो मैं बॉयज hostel में पढ़ा, जहां पर लड़कियों का नामोनिशान नहीं था, 11वीं और 12वीं कक्षा की एक छोटी सी story थी जो बन नही पाई, उसे मैंने बहुत पहले आप सब लोगों को शेयर किया है maybe आप लोगों ने उसे पढ़ा होगा but आज मैं जो मजेदार बात करने वाला हूं वह बात जुड़ी है college के उन दिनों से जो हर इंसान की जिंदगी के सबसे खूबसूरत दिन होते हैं,

12वीं के results आने के बाद जब वक्त आया college में जाने का तब मैंने यह सोच लिया था कि college में जाने से पहले मैं अपने आप को बिल्कुल बदल दूंगा और college के पहले ही 6 माह में कोई ना कोई girlfriend जरूर बनाऊँगा but हमेशा की तरह किस्मत को कुछ और ही मंजूर था,

मुझे किसी ने कहा था कि शादी के बाद जब लड़का और लड़की अपनी जिंदगी की नई शुरुआत करते हैं तो सबसे पहले अपने बीते हुए कल के बारे में बातें करते हैं जिसमें वह एक दूसरे को यह बताते हैं कि उसकी पिछली जिंदगी कैसी थी उस जिंदगी में कितने लोग आए और कितने लोग गए,

अब सवाल यह था कि अगर मेरी होने वाली पत्नी शादी के बाद मुझे अपने बॉयफ्रेंड गिनाती तो मैं उसे क्या कहता, बस इसी नादानी की वजह से मैंने सोच लिया था कि मुझे एक girlfriend चाहिए ही चाहिए, अब वक्त आया college जाने का,

Why i am single ? 

Why I am still single
Why I am still single

college के पहले दिन हम सबको एक movie दिखाई गए जिसका नाम था lucy, यह मूवी के जरिए हमारे सर हमें यह बताना चाहते थे कि इंसान का दिमाग क्या क्या कर सकता है but कोई भी इस movie को नहीं समझा क्योंकि इस movie के शुरुआत में कुछ ऐसा है जिसे देखने के बाद आपका दिमाग काम करना बंध कर देगा, आप खुद ही देख लेना, हम फिलहाल अपनी बात पर आते है,

कुछ दिनों बाद मुझे एक लड़की पसंद आई, लड़की अच्छी सी दिखने में but प्रॉब्लम यह हुआ कि कुछ दिनों बाद हमारे क्लास के चार टुकड़े कर दिए गए, जिसमें से में B ग्रुप में था और वह लड़की C ग्रुप में थी, मैंने C ग्रुप के एक लड़के से अपनी जान पहचान बनाए और एक दिन मौका देख कर उसे कह दिया कि मैं तुम्हारे ग्रुप की लड़की को like करता हूँ, मैंने उसे वह लड़की दिखाई,

अब मेरी किस्मत इतनी फूटी हुई थी कि मैंने उस लड़के को दोस्त बनाया जो खुद उस लड़की की फील्डिंग में लगा था, वह लड़का मुझे थोड़ी देर देखने लगा उसके बाद उसने मुझे कहा कि “तुम उसे भूल जाओ" मैंने कहा “क्यों" तो उसने कहा “तुम्हारा नाम क्या है" मैंने कहा “परमार शैलेश" वह लड़का मुझे कहने लगा “बस इसीलिए तुम उस लड़की को भूल जाओ" मैं कुछ देर सोचने लगा फिर मैंने उसे पूछा “क्यों मेरे नाम में कोई खराबी है" उसने मुझे कहा कि “नाम में कोई खराबी नहीं है तुम्हारी सरनेम में खराबी है क्योंकि जिस लड़की को तुमने पसंद किया है उसकी सरनेम और तुम्हारी सरनेम सेम है"😢😢😢😢😢😢

यह सब सुनकर मेरे तो तोते उड़ गए because मुझे नहीं पता था कि वह लड़का मुझे टालने के लिए झूठ बोल रहा था, मेरे दिमाग में एक belief बन गया कि उस लड़की की सरनेम और मेरी सरनेम same है जिसे निकालना अब आसान नहीं था,

उस लड़के के एक छोटे से झूठ की वजह से मुझे हर तरफ अपने ही सरनेम वाली लड़कीया दिखने लगी और मैंने यह सोच लिया कि अब मुझे कोई girlfriend नहीं बनानी है थोड़े महीनों के बाद मुझे पता भी चल गया कि उस लडकी की सरनेम परमार नहीं थी but मेरा बिलीफ सिस्टम इतना स्ट्रांग बन गया था कि अब उसे मिटाना बहुत ही कठिन था,

आज भी शादी के दिनों में मेरे सारे friends पूरी रात लड़कियों को देखते हैं और मैं 10:00 बजे अपने रूम में जाकर सो जाता हु,  मैंने भी अब यह सोच लिया है कि अब girlfriend भी उसे ही बनाऊँगा जिससे शादी होगी, ऐसा करूंगा कि सगाई से लेकर शादी तक अपनी होने वाली पत्नी को girlfriend बना कर रखूंगा और शादी के बाद पत्नी बनाकर रखूंगा,

ठीक है फिर किसी और दिन ऐसी ही मजेदार बातें आप लोगों के साथ शेयर करने आता रहूंगा, तब तक लिए आप लोग सोचिए कि क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है, 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Share your experience with me