Search here

सोमवार, 22 जुलाई 2019

सुबह जल्दी उठना... रात को जल्दी सोना... क्या जरूरी है motivational talks

सुबह जल्दी उठना... रात को जल्दी सोना... क्या जरूरी है motivational talks


मैंने कुछ दिन पहले कुछ ऐसी आदते लिखी थी जो आदत, अगर मैं और आप अपनी जिंदगी में apply करते हैं तो हम अपनी जिंदगी में कुछ तो ढंग का जरूर कर सकते हैं उसमें से एक आदत ऐसी थी जिस पर कुछ लोगों ने question उठाए,  उस habit के बारे में बात करने के लिए मैं आज आपके पास आया हूं,

मैंने सबसे पहली आदत की आपको बताई थी कि अगर हम दूसरों के मुकाबले रोज सुबह 2 घंटे पहले उठते हैं और रात को जल्दी सोते हैं तो हमें बहुत ज्यादा benifit होगा, इस पर मुझे एक comment मिला जिसमे लिखा था कि गांव के लोग जल्दी सो जाते हैं और शहर के लोग जल्दी नहीं सोते फिर भी वह लोग गांव के लोगों से ज्यादा अमीर है और गांव के लोगों से ज्यादा अच्छी जिंदगी जी रहे है,

इस सवाल का जवाब देने से पहले मैं यह जानना चाहता हूं मेरे सभी दोस्तों से कि... क्या आपको भी यह गलतफहमी है कि  शहर के लोग गांव के लोगों से ज्यादा अच्छी जिंदगी जी रहे हैं इस बात का जवाब आप मुझे जरूर बताना but अभी मैं अपनी ओर से कुछ बातें आप लोगों के साथ शेयर करना चाहता हूं इस सवाल से related

सुबह जल्दी उठना... रात को जल्दी सोना... क्या जरूरी है

सुबह जल्दी उठना... रात को जल्दी सोना... क्या जरूरी है motivational talks

आप किसी भी बड़े इंसान की biography को अगर Read करेंगे या सुनेगे तो आपको उनमें एक ही बात commen दिखेगी और वह यह है कि biography की starting मैं ही लिखा होगा कि इस इंसान का जन्म एक छोटे से गांव में हुआ था और कड़ी मेहनत करने के बाद वो शहेर आये अपने सपने को और अपनी काबिलियत को उड़ान देने के लिए और आज वह इस मुकाम को हासिल कर पाए, हर वह इंसान जो आज कामयाब है वह एक गांव से होकर गुजरता है

जो लोग पहले से ही शहर में बसे होते हैं उन लोगों को तो हम middle-class कह कर बुलाते हैं और Maybe आपको इस बात का पता नहीं होगा कि उस middle-class फैमिली से ज्यादा पैसे तो गांव के सबसे गरीब इंसान के पास होते हैं यह बात अलग है कि गांव के लोग अपने पैसों का दिखावा नहीं करते, वह चाहे कितने भी अमीर हो दिखते एक मामूली किसान जैसे हैं,

मैं ऐसा नहीं कह रहा हूं कि शहर से लोग बड़े नहीं बनते but अगर कोई है जो शहर में बड़ा होकर बहुत बड़ा इंसान बन चुका है तो आप उस इंसान के पास जाकर उसे पूछना कि आपकी family कहां से बिलॉन्ग करती हैं तो जवाब आपको यह मिलेगा कि हम सबसे पहले एक गांव में रहते थे और वहां से हम शहर में रहने के लिए आए और हमने यह सब कुछ हासिल किया,

शहर में बड़े लोग रहते हैं इसका मतलब यह नहीं है कि शहर के लोग बड़े होते हैं और गांव के लोग छोटे होते हैं बस फर्क सिर्फ इतना है कि गांव में जो लोग अपने आप को साबित नहीं कर पाते हैं वह लोग शहर में जाकर बसते हैं और अपनी काबिलियत को  एक उड़ान देते हैं,

इस बात से मुझे एक और बात याद आ गई है कि कुछ लोगों का यह question होता है कि हमारा देश आगे क्यों नहीं बढ़ रहा है तो इसका question भी इसी में छुपा हुआ है जो लोग अपने आप को इस देश में यानी कि हमारे देश में साबित नहीं कर पाते वह लोग दूसरे देश में जाकर अपनी काबिलियत को उड़ान देते हैं जैसे कि सुंदर पिचाई.....

बस यही बात है मैं आप लोगों के साथ share करना चाहता था मुझे इस बात का कोई दुख नहीं है कि आप मुझे गलत साबित करने की कोशिश करते हैं but मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि आप मुझसे questions पूछते हैं क्योंकि आपके सवालों के जवाब ढूंढने में मुझे बहुत अच्छा लगता है और इससे मेरा knowledge भी बहुत आगे बढ़ता है,

I know कि इसे लास्ट तक पढ़ने के बाद किसी ना किसी के दिमाग में यह question जरूर आया होगा कि शहर के लोग आगे क्यों नहीं बढ़ पाते हैं but कुछ दिन धैर्य रखें, मैं इसी बात का पता करने की कोशिश कर रहा हूं और बहुत जल्द में इसके ऊपर भी एक ब्लॉग लेकर जरूर आऊंगा,


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Share your experience with me