Search here

शुक्रवार, 24 मई 2019

What do people want from us लोग हमसे क्या चाहते हैं

What do people want from us लोग हमसे क्या चाहते है

What do people want from us लोग हमसे वह चाहते हैं
What do people want from us लोग हमसे वह चाहते हैं 

हमारी जिंदगी तब बर्बाद नहीं होती जब हम अपने बारे में कुछ  negative सोचने लग जाते हैं हमारी जिंदगी तब बर्बाद हो जाती हैं जब हम यह सोचने लग जाते हैं कि लोग हमसे क्या चाहते हैं अगर हम सोचे कि हमारे माता-पिता हमसे क्या चाहते हैं तो इसका जवाब हमें मिल जाएगा because माता पिता और संतान एक है, 

but अगर आप यह सोचने लगे कि बाकी सब लोग जैसे कि हमारा सारा परिवार जिसमें सब आ जाते हैं and दूसरे वह लोग जिससे हम पल दो पल के लिए मिलते हैं रिश्ते किसे कहते हैं इसके ऊपर मैंने पहले  बहुत बार बात की है but आज मैं बात करने आया हूं कि लोग हमसे क्या चाहते हैं... 

वैसे मैंने इसका उत्तर मैंने title में ही दे दिया है कि लोग हमसे वह चाहते हैं जिसके बारे में हम सोच भी नहीं सकते। सच में दोस्तों शायद आपने आज से पहले यह सच जान लिया होगा और आपको यह पता भी चल गया होगा कि लोग सचमुच वह चाहते हैं जिसके बारे में सोचना नामुमकिन है,

बहुत सारी बातें जो maybe आप आगे जाकर भी महसूस करेगे और आपके साथ साथ मैं भी करूंगा but आज बात करूंगा उस बातों के बारे में जो मैंने अभी तक महसूस की है,

लोग हमसे वह चाहते हैं जिसके बारे में हम सोच भी नहीं सकते। 


मैंने एक गुजराती नाटक में एक बहुत अच्छी बात सुनी थी जिसमें कहा गया था कि अगर इंसान घर पर बैठा रहे है और कुछ कामकाज ना करें तो लोग उसे कामचोर कहेंगे अगर वही इंसान काम करने के लिए बाहर जाएगा और कुछ पैसे कमा कर आएगा तो वही लोग उनसे जलने लगेंगे, 

अब यह बात सिर्फ मैंने सुनी नहीं है यह बात मैंने अपने खुद के परिवार में महसूस भी की है, मेरा एक परिवार का member है जो हर कामयाब इंसान को देख कर उन्हें एक ही बात कहता है कि आप लोग तो पैसे वाले हो आप के पास तो इतना पैसा है हम लोग तो गरीब इंसान हैं but वह कभी यह नहीं सोचते की वह इंसान जो आज कामयाब है जिसके पास आज पैसे है उसके पास पैसे आसमान से तो नहीं टपके होंगे,  

सबसे पहले में आपसे इसी habit के बारे में आज बात करना चाहता था कि अगर आप भी ऐसा करते हैं तो यह बहुत गलत है और maybe आप इस बात को भली-भांति जानते हैं, 

दूसरे कुछ ऐसे उदाहरण है जो मैं आपसे साथ share करना चाहता हूं जो शायद आपने कहीं सुने होगे लेकिन सबने नहीं सुने होगे इसलिए मैं कहना चाहता हूं कि..... 

अगर एक इंसान शादी होने के बाद अपनी बीवी को नौकरी करने की इजाजत दे तो समाज कहेगा कि वह इंसान अपनी बीवी के पैसे से पेट भरता है अगर वही इंसान उसकी बीवी को नौकरी न करने दें तो लोग कहेंगे कि वह इंसान अपनी बीवी के साथ ज़ुल्म करता है,

अगर एक इंसान अपने बच्चों की गलती पर उसे मारता है तो लोग कहेंगे कि कितना बेरहम इंसान है अपने बच्चे को मारता है लेकिन अगर वही इंसान अपने बेटे की गलतियों पर उसे ना मारे तो लोग कहेंगे कितना irresponsible इंसान है अपने बच्चे को कुछ नही कह रहा, 

अगर एक इंसान किसी एक जिंदगी की exam में पास होकर आपके सामने कामयाब बनकर आए तो आप कहेंगे कि जरूर कुछ गलत काम कर रहा होगा, अगर वही इंसान किसी exam में निष्फल होकर आपके सामने आए तो आप कहेंगे कि मुझे तो पता ही था इसका कुछ नहीं होने वाला, 

यह सारी बातें करने का मेरा मकसद बस यही था कि आप लोग बस ये समझ जाए कि मैं और आप कभी भी लोगों को खुश नहीं कर सकते इसलिए अच्छा इसी में है कि हम अपनी जिंदगी में सबसे ज्यादा time अपने आप को खुश करने में लगाये और अगर कभी किसी को खुशियां देने का दिल करें तो उन्हें याद करे जो कहीं दूर बैठकर आपको याद कर रहा है जो चाहता है कि आप जैसे इंसान उसके पास जाए और उनकी भूख को मिटाये...  

लोगों को हम कभी पसंद नही आयेंगे इसीलिए गुलजार ने अपने एक पंक्ति में कहा था कि 

आओ हम सब पहन लें आईना, सारे देखेंगे अपना ही चेहरा, सबको सारे हंसी लगेंगे यहा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Share your experience with me