यह ब्लॉग खोजें

मंगलवार, 29 जनवरी 2019

तूने कभी नोटिस नही किया 【one sided Love poetry】


तूने कभी नोटिस नही किया 【one sided Love poetry】

तूने कभी नोटिस नही किया 【one sided Love poetry】
One sided Love poetry


दोस्तों आपसे एक छोटा सा क्वेश्चन पूछता हूं क्या आपने कभी किसी से  one sided Love किया है चलो इसी क्वेश्चंस को थोड़ा टफ करके पूछता हूं क्या आपको कभी अपने बेस्ट फ्रेंड से one sided Love किया है मतलब ना इधर के ना उधर के ,

सच कहते हैं लोग एक लड़का और एक लड़की कभी दोस्त नहीं बन सकते , दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसी लड़की की कहानी बताने वाला हूं जिसे अपने बचपन के सबसे अच्छे दोस्त से  मोहब्बत हो गई लेकिन उस लड़के ने कभी नोटिस नहीं किया , 

दोस्ती जब प्यार में बदलती है तब फर्क सिर्फ इतना पड़ता है कि पहले उनके साथ मस्ती करते वक़्त अगर हाथ उसको छू लेता तो कोई फर्क नही पड़ता लेकिन आज धड़कन तेज़ हो जाती है , 

एक दिन उस लड़की ने अपने खास दोस्त जिसे वह प्यार करतीं थी उसे अपने पास बुलाया औऱ उनके हाथ मे जो मोबाइल था जिस पर वह बार बार नज़रे घुमाता था उसे अपने पास रखकर उसने लड़के को कहा कि अगली 5 मिनिट मेरे नाम पर , में जो बोलती हु उसे सिर्फ सुनो बीचमे कोई कमेंट नही हँसी मजाक नही , 

One sided love by girl 

आज मुझमे थोड़ी हिम्मत है और तुम्हारा मुड़ भी कुछ ठीक लग रहा है इसलिए सोचती हूं कि आज एक बात तुझे बता ही दु , you know what बचपन से हम साथ है लेकिन हमारा यह साथ मुझे कभी इत्फ़ाक नही लगा मतलब की तुम्हारा मिलना मेरे लिए रोज होने वाली छोटी-छोटी आम बातों में से एक नहीं था ,


तुमसे आज अपने दिल की बात करते हुए  ऐसा लग रहा है जैसे मेरे इस पुराने जंग लगे दिल ने धड़कना शुरू कर दिया और अब तो ये इतनी जोर से धड़क रहा है जैसे वह मेरे कंट्रोल में ही नहीं , तूने जब मुझसे दोस्ती की थी ना तब मुझे लग रहा था कि आज भले ही पूरी दुनिया से मेरा झगड़ा हो जाए मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन तूने कभी यह नोटिस नहीं किया , 

अपने प्यार के इजहार से पहले मुझे लगा कि मैं तुझे थोड़ा जान लेती हूं और आज ऐसा जाना तुझे जितना तो शायद  खुद को भी नहीं जानती होगी , तेरी सारी फेवरेट आदत तो दूर की बात है मैंने तेरी आंखों में देख कर तेरा पूरा बचपन जान लिया ,

बचपन में तेरे साथ बीते वह सारे किस्से मुझे इस कदर याद है जैसे वह सारे पल मैंने जिए हो , तूने भी बचपन के अपने सारे राज मेरे साथ शेयर किए और मैंने भी तुम्हारी वन एंड ओनली पर्सनल डायरी बनकर उसको संभाला लेकिन तूने कभी नोटिस नही किया

सच कहु तो जो वक़्त में तुम्हारे साथ बिताती हु लगता है सिर्फ वही जिंदगी है लेकिन शाम को तुझसे दूर जाती हु पता नही क्यों मुझे अपना ही घर कैद लगता है , रोज सुबह मिलते वक़्त एक हस्ता हुए चहेरे के साथ Hi करती हूं लेकिन कभी शाम को बिछड़ते वक़्त कभी bye नही किया लेकिन यह छोटी सी बात को भी तूने कभी नोटिस नही किया 

आज इतना बता ही दिया है तो कुछ और भी सुन ले ... की मुझे अच्छा नही लगता जब तू मुझसे कहता है कि में तेरे लिए कोई gf पसंद करू , ऐसा लगता है जैसे किसी गरम तवे पर मुझे बिठाया हो , हा जल जाती हु में लेकिन फिर भी उस जलन को आखो पर दबा कर एक जूठी हँसी हँस देती थी में , लेकिन तूने कभी नोटिस नही किया 

चल अब तूने नोटिस नही किया कोई बात नही लेकिन में खुद आज तैयार हूं आज तुम्हे यह बताने के लिए इस प्यारी सी गहरी दोस्ती को प्यार की तरफ ले जाने के लिए तुम्हे हमेशा के लिए अपना जीवनसार्थी बनाने के लिए लेकिन सिर्फ तभी जब तू ready है , 

हा अगर तुम अब भी चाहो तो मुझे i love you but as a friend बोल सकते हो मुझे बुरा नही लगेगा औऱ यह जो हमारी दोस्ती है वह फिर से इन 5 मिनिट को भुलाकर पहले जैसे हो जाएगी , 

लड़की खामोस ........माहौल खामोश ...... हर तरफ बिखरी एक खूबसूरत खामोशियाँ ,

जानता हूं आज की कहानी से आपको कुछ सीखने नहीं मिला होगा आप सोच रहे होगे की यह मैंने क्या लिख दिया लेकिन मैंने कहा था ना दोस्तों में वह सारी बातें आपसे शेयर करूंगा जिसका सामना आप ने किया होगा या फिर आप करेंगे इसलिए अभी से प्रिपेयर हो जाओ वरना जिंदगी इस तरह की सिचुएशन  खामोश कर देगी , 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें