यह ब्लॉग खोजें

बुधवार, 23 जनवरी 2019

देने वाला ही केवल महान कहलाता है Giver is the only great


देने वाला ही केवल महान कहलाता है Giver is the only great

Giver is called great देने वाला ही हमेशा महान कहलाता है
Giver is called great

एक बहुत ही दयालु और प्रजाप्रेमी राजा था वह रोज सुबह अपने भंडार को लोगो के लिए खोल देता , उसमे से वह रोज सबको थोड़ा थोड़ा अनाज और पैसा देता था , रोज सुबह राज्य की सारी प्रजा लाइन में लग जाती , 

उस लाइन में एक ऐसा व्यक्ति था जो बहुत अजीब था , दोस्तों आज हम उसी व्यक्ति की महानता की बात करते के लिए मौजूद हुए है , वह इंसान रोज लाइन में खड़ा रहता था लेकिन कभी भी उसको कुछ नही मिलता था , वह आख़िर क्यों खाली हाथ आता था , चलिए सुरु करते है , 

वह इंसान रोज वक़्त पर दरबार आ जाता था और लाइन में खड़ा रह जाता लेकिन जैसे ही उसके पीछे कोई आता था तो वह उसे अपनी बारी देकर उसके पीछे चला जाता , इस तरह अपनी बारी लोगो को देते देते वह सबसे पीछे रह जाता और शाम हो जाती , जब उसकी बारी आती तब दरबार के बंध होने का वक़्त हो जाता था ,

यह सब अब रोज का हो गया था , एक दिन अचानक एक सैनिक की उस पर नज़र पड़ी और उसे बंदी बनाकर राजा के पास ले जाया गया , 

राजा ने उसे पूछा की तुम यह क्यों कर रहे हो , उसने उत्तर दिया कि महाराज में तो वही कर रहा हु जो आप कर रहे है , राजा को आश्चर्य हुआ उसने कहा "कैसे” तब उस व्यक्ति ने जो उत्तर दिया वह वाकई काबिले तारीफ़ है , 

उसने कहा कि आपके पास धन है जो आप लोगो को देकर उसकी मदद करते हो मेरे पास अपनी बारी है जो में दूसरों के देकर उसकी मदद करता हु ताकि मेरी वजह से सायद किसी जरूरतमंद की बारी आ जाये और उसकी मदद हो जाए , 

दोस्तों यह सीख हम सबके लिए है हम सोचते है कि हम सिर्फ धन होने से दूसरों की मदद कर सकते है लेकिन ऐसा नही है हम सबके पास कुछ ऐसा है जिससे हम दूसरों की मदद कर सकते है जैसे कि धन , ज्ञान , बिसनेस , प्रोफेशन , समाज , दोस्ती , पोलिटिक्स , इस हर प्लेटेफ्रोम पर आप दूसरों की मदद कर सकते है , 

दोस्तों अब सायद आपको पता चल गया होगा कि में आपके साथ रोज मेरा अनुभव और ज्ञान क्यों शेयर करता हु , 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें