गुरुवार, 8 नवंबर 2018

Who am I ? Motivational story Hindi by motivational quotes

Who am I : Once you ask yourself this question, who am I ? ,  why do you say that you are all forgetting yourself in the identity but after reading this Motivational Story, if you ask yourself who am I ? , right Answer may be found


Who am i ? Inspiration story

Who am I ?

एक शेरनी थी जिसने एक बच्चे को जन्म दिया और उसके तुरंत बाद उसकी मुर्त्यु हो गई , कुछ देर बाद वहा से तीन चार भेड़ गुज़री उसने यह सब कुछ देखा और उस बच्चें को अपने साथ ले लिया , बच्चा बहुत छोटा था इसलिए भेड़ को उनसे डर नही लगा ,रोज भेड़ ओर शेरनी का बच्चा साथ मे खलते थे ,

एक दिन शेरनी का बच्चा बड़ा हो गया लेकिन फिर भी भेड़ उनसे डरती नही थी वह रोज की तरह बिना डरे खेलते थे , अचानक एक दिन जंगल मे से एक दूसरा शेर आया और उसने यह सब कुछ देखा , वह सोचने लगा कि यह शेर हमारी जाती का होकर भेड़ के साथ क्यों खेल रहा है उसने सोचा कि मुजे इस शेर से बात करनी ही होगी कि तुम मेरे भाई हो तुम्हे हमारे साथ रहना चाहिए और वह उनके पास जाने लगा , 

भेड़ की नज़र शेर पर पड़ी और वह भागने लगी , उसे भागता देखकर शेर भी भागा लेकिन उस जंगली शेर ने उस शेर को पकड़ लिया , शेर बिल्कुल दर गया उसका पूरा बदन काँपने लगा , 

जंगली शेर : इतना कांप क्यों रहे हो ?

शेर : भय लग रहा है ,

जंगली शेर : किससे ?

शेर : आपसे ,

जंगली शेर : मगर क्यो ?

शेर : क्यों कि आप शेर हो ,

जंगली शेर : मगर शेर तो तुम भी हो , 

शेर : नही में तो भेड़ हु , 

जंगली शेर : नही तुम भी शेर हो , 

( बहुत समजाने के बाद भी शेर नही माना )


Motivational story


जंगली शेर उसे पास के सरोवर में ले गया और कहा कि देखो इसमे अपनी सकल ओर मेरी क्या अंतर है , शेर सोचने लगा कि हा मैं भी शेर हु पता नही में उस भेड़ के साथ क्यों घूम रहा था , 

इसी तरह अगर आप भी कभी आईने के सामने अपनी सकल रख कर अपने आप से यह सवाल करे कि who am i ? तब आपको भी पता चलेगा कि आप क्या है और आप किस भेड़ बकरियो के साथ रहकर बदल गए है , 

हम सब अंनत शक्तियों के भंडार से भरे है फिर भी अपने आपको भेड़ के समान यानी कि निर्बल महसूस करते है , ओर यह सब इसलिए क्यों कि हमारे आसपास नकारात्मक बातचीत करने वाली भेड़ बकरियां है जिसकी वजह हम भी उनकी टुकड़ी में शामिल हो गए बस उस टुकड़ी को छोड़ने की देरी है फिर देखियेगा आप भी सफलता के उस पायदान पर पहोच जायेगे जहा से नीचे गिरना नामुमकिन होगा दोस्तो , 

0 comments: