Search here

सोमवार, 29 अक्तूबर 2018

What is the secret of success सफलता राज़ क्या है ,

Secret of saccess : what is the secret of success आखिर हर सफल इंसान के पीछे का exull में राज़ क्या है , why some people are success and some people is not successful


What is the secret of success

आज हमारे देश में ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो बहुत सारी डिग्रियां और पढ़ाई करने के बावजूद भी कहीं ना कहीं अपने आप को बेबस महसूस करते हैं और किसी भी कंप्यूटेटिव एग्जाम को क्लियर नहीं कर पाते हैं हर बार वह किसी ना किसी काम को पाने की चाहत रखते हुए उस काम के पीछे अपना वक्त गुजारते हैं लेकिन वही वक्त उसके विफलता का कारण बनता है ऐसा क्यों होता है हमारे साथ की इतना पढ़ने लिखने के बावजूद भी हम विफल हो जाते हैं ,

जब कभी मैं किसी कॉम्पिटेटिव एक्जाम सेंटर की मुलाकात लेता हूं तब मैं देखता हूं कि वहां पर 30 , 35 और उससे भी ज्यादा उम्र के लोग कॉन्पिटिटिव एग्जाम देने आते हैं और ताज्जुब की बात तो यह है कि उसके पास कितनी डिग्रियां होती है कि आप सोच भी नहीं सकते फिर भी वह कंपटीटिव एग्जाम को क्लियर नहीं कर पाते है इन सब का डायरेक्ट कनेक्शन सीखने पर है लर्निंग पर है इसीलिए मैं आज सीखने का अर्थ क्या है इस टॉपिक को आपके लिए लेकर आया हूं ,

यह ब्लॉग खास करके उन टीनएजर्स के लिए जिसने अभी अपनी जिंदगी जीना शुरु किया है,  जिसके पास वक्त है कि वह अपनी जिंदगी को कुछ हद तक चेंज कर सके और अपनी आने वाली जिंदगी को बेहतर बना सके और उन लोगों के लिए भी है जो बार बार विफलता का सामना कर रहे हैं , ज्यादा वक्त ना लेते हुए हम बात करते हैं   what is the meaning of learning

हम स्टडी क्यों करते है Why do we study


में इन सबको 3 कैटेगरी में डिवाइड करुगा , 50% लोग स्टडी इसलिए करते हैं कि उसे अच्छी जॉब मिल सके , 40% लोग स्टडी इसलिए करते हैं कि वह क्लास में अव्वल आ सके , इन दोनों केटेगरी को मिलाकर 90% लोग होते हैं जिसमें से सक्सेस होने वाले लोगों की संख्या तकरीबन 30% है , इसका मतलब यह है कि अगर आप इन दोनों में से किसी कैटेगरी में आते हैं तो आपका जॉब मिलने का और अपने लाइफ में सक्सेस होने का सिर्फ और सिर्फ 30% चांस है ,  अब इन दोनों में से 10% लोग कैसे होते हैं जिसका सीखने का नजरिया अलग होता है और उन 10% में आने वाले हर एक इंसान को एक दिन बहुत बड़ी सफलता हासिल होती है ,

अगर आप भी जिंदगी में कुछ बनना चाहते हैं या फिर कुछ हासिल करना चाहते तो आपको भी उन 90% में से इस 10% में आना होगा तभी जाकर आपके सफलता होने का परसेंटेज 30% से 100% हो जाएगा , अब सवाल यह है कि ऐसा क्या करते है वह लोग जो 10% में आते हैं और उसका जॉब मिलने का और सफलता हासिल करने का राज क्या है और हमें उन 10% में क्यों जाना चाहिए ,



Why 10% People Are Successful



10% people are never unsuccessful

एक बहुत अच्छे हैं एग्जांपल के साथ में आप को समझाना चाहुंगा जब भी हम किसी काम को करने से पहले उसके बाद होने वाले किसी एक घटनाक्रम के बारे में सोचते हैं तब होने वाला काम सफलतापूर्वक नहीं कर पाते " नही समझे ना , समजता हु "  जब कोई इंसान सिंगर या फिर डांसर या फिर कुछ भी बनने के बारे में सोचता है यानी कि उसके दिमाग में यह चलता है कि मुझे एक बहुत बड़ा सिंगर बनना है या फिर मुझे एक बहुत बड़ा डांसर बनना है तब उसका सिंगर और डांसर बनने का जो ख्वाब है वह 30% पूर्ण हो सकता है ,

यानी कि उसे सफलता मिलेगी या फिर नहीं मिलेगी वह 30% के दायरे में है , इसका मतलब यह है कि यह इंसान उस 90% के अंदर आता है और अब इस इंसान को हम 10% में लाना चाहे तो कैसे ला सकते हैं ताकि उनका सक्सेस होने का जो परसेंटेज है वह 30% से 100% हो जाए ,


10% में आने वाले लोग कुछ बनने के लिए या फिर कुछ हासिल करने के लिए कभी भी कुछ भी सीखते नहीं है वो सीखते तो इसीलिए कि वह जमाने के साथ चल सके और अपने आप को यह कह सके कि yes i know that , बस यही फर्क है आप में और उन लोगों में और यही बात है जो उन्हें सबसे अलग करती है,

वह किसी भी काम को इसलिए नहीं करते कि उसे उस काम में कामयाबी चाहिए वह किसी भी काम को इसलिए करते है कि उसे वह काम सीखना है और जब हम किसी भी काम को सीखने के लिए हाथ में लेते तब वह काम में हमें अपने आप कामयाबी मिल जाती है ,

इसका मतलब यह है कि अगर उस इंसान को सिंगर या डांसर या फिर कुछ भी बनना है तो उसे यह नहीं सोचना है कि वह 1 दिन बहुत बड़ा सिंगर बनेगा या डांसर बनेगा , उसे यह सोचना है कि मुझे संगीत को सीखना है मुझे डांसिंग को सीखना है मुझे सुर और ताल की समझ लेनी है तब जाकर अपने आप वह कामयाबी के उस मंजर को छू लेगा जिसकी उसे शायद कल्पना भी नहीं थी ,

Secret of success


क्लास में अव्वल आने वाला इंसान सफल इसलिए नहीं हो पाता है क्योंकि उसने सफल होने के लिए कुछ ऐसे रास्ते अपनाए होते हैं जिसका उसे भी अंदाज नहीं होता है कुछ ऐसी शॉर्ट ट्रिक अपनाए होती है जो वक्त के गुजरने के बाद घाव छोड़ जाती है ,

जैसे कि कुछ imp टोपीक को रट लेना या फिर सिर्फ और सिर्फ नजर लगा कर उस टॉपिक से चले जाना कुछ लोग होते हैं  जिसे नजर लगाने के बाद कुछ वक्त के लिए सब कुछ याद रहता है और उसके बाद वक्त गुजरने के बाद वह सब कुछ मेमोरी से डिलीट हो जाता है और यही बातें हमें उस  30% में डालती है और ऐसा नहीं है कि 10% लोग ओवल नहीं आते हैं वह लोग भी वह आते हैं लेकिन उसका अंदाज उसे भी नहीं होता है ,

हर बार की तरह अगर एक शॉर्ट नोटिस पर बताना चाहु तो अगर आप किसी भी काम को लेते हैं तो उसे सीखने के लिए लीजिए ना कि उस काम पर सफलता हासिल करने के लिए क्योंकि मेरा आपसे यह दावा है कि अगर आप सीखने के लिए उस काम को अपने हाथ में लेकर तो सफलता तो उन्हें मिल जाएगी और आपको यह जानकर बहुत खुशी होगी कि 3idiot में जब आमिर खान कहता है कि सक्सेस के पीछे नहीं एक्सीलेंस के पीछे भागो तो किसी भी काम को सीखने का मतलब ही एक्सीलेंट है , और आपको इसी एक्सीलेंस के पीछे भागना है और अगला डॉयलोग यह था कि अगर आप एक्सीलेंस के पीछे भागो गे तब सक्सेस जख मारकर आपके पीछे आएगी ,

मेरी बात को तो नजर अंदाज कर देना मगर आमिर खान की बातों को तो नजरअंदाज मत करना क्योंकि इन्ही बातों की वजह से हमारी जिंदगी में कुछ चेंजेज जाते हैं और हमारी लाइफ एक अच्छे मुकाम पर जाकर हमें दस्तक देती है और मुस्कुरा कर कहती है कि क्या जिंदगी है ,

 आज के लिए बस इतना ही फिर मिलेंगे अगले ब्लॉग के साथ bye and take care all my friend ,




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Share your experience with me