Search here

गुरुवार, 9 अगस्त 2018

Island का सफर part 12 Terrible night of the farm

Island tour : This is the story of Island tour which started with a little baby boy , And much more learned during this journey , How many troubles did the little child cross this island tour ,  all we have seen through this story , 


Island का सफर part 12 मोटिवेशनल स्टोरी


Island का सफर part 12 मोटिवेशनल स्टोरी
Island का सफर  एक बहादुर बच्चे की कहानी 


फाइनली आज हम  उस रात के बारे में बात करेंगे जो रात  जोसेफ और रॉबिंस ने अपने खेत में गुजारी , आखिर उस रात क्या हुआ था और वह रात कितनी भयानक थी सब कुछ आज मैं आपके लिए लेकर आया हूं तो चलिए शुरू करते हैं , 
  
सब लोगों ने भूत प्रेत के बारे में तो सुना ही होगा लेकिन उन पर विश्वास करने वाले आज के जमाने में बहुत सारे लोग है , कुछ लोग ऐसे हैं जिसने कभी देखा नहीं है फिर भी मानते हैं और कुछ लोग ऐसे हैं जो देख कर मानते हैं , लेकिन मैं यहां पर भूत और प्रेत की बात नहीं करने वाला हूं , क्योंकि मैं भी भूत और प्रेत मैं नहीं मानता हूं ,

क्योंकि मेरा मानना है कि जिसे कभी हमने देखा ही नहीं उस पर विश्वास करना गलत है , इसलिए हम अब चलते अपनी कहानी पर वैसे तो सबसे भयानक रात होती है वर्षा की रात जब बारिश आती है तुब उसकी रात इतनी काली होती है कि उन्हें डूब जाने को दिल करता है लेकिन डर भी लगता है ,

बरसात की रात का आनंद लेने में मजा तभी है जब हम घर पर हो लेकिन अगर उस वक्त अगर हम कहीं बाहर हो फिर तो डर डर के पता नहीं हमारा क्या हाल होगा , क्योंकि वर्षा की रात होती इतनी काली है इतनी घनघोर होती है कि उन से सब को डर लगता है , उस वक्त बादल गरज रहे होते हैं बिजली कड़क रही होती हैं बारिश की बूंदे बरस रही होती है ,

इन सब का मजा तभी आता है जब हम घर पर हो लेकिन उस वक्त अगर हम कहीं बाहर हो और घर बहुत दूर हो तब क्या होगा , जोसेफ और रॉबिंस के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ , बात कुछ ऐसी ही थी  कि जोसेफ ओर रॉबिंस भी घर से बहुत दूर थे और मौसम भी बारिश का था ,  

सुबह मौसम बहुत अच्छा था इसलिए दोनों को लगा कि शायद आज रात को बारिश नहीं होगी , यही सोचकर जब वह दोनों रात को खाना खाकर खेत के और पहुंचे तो उसने वहां पर सबसे पहला जो अनुभव किया वह था  वह था उस घनी रात का अनुभव की रात इतनी घनघोर थी कि जोसफ का तो पता नहीं लेकिन रॉबिंस थोड़ा डरने लगा था , लेकिन रॉबिंस यह बात अपने दिल में दबाकर आगे बढ़ा दोनों जाकर उस माचडे के ऊपर जा कर बैठे , बहुत देर तक दोनों ने बातें करी कुछ देर बातें करने के बाद दोनों सोने लगे , अभी रात के 11: 00 बज गए थे ,

आधी रात का वक़्त 


जब रात के 12: 00 बजे तक अचानक कुत्ते जोर जोर से भोंक ने लगे , कुछ देर बाद दोनों की नींद उड़ गई , रॉबिंसने फटाफट बत्ती निकाली और चारों और घुमाने लगा , तभी अचानक जोसेफ भी उठ गया , 

जोसेफ : क्या हुआ रोबिंस , 

रॉबिंस : पता नहीं है कुत्ते बहुत जोर जोर से भोंक रहे है , 

जोसेफ : कुछ नहीं छोड़ो यह तो रोज ऐसे ही भोंकते रहते है , 

रॉबिंस : नहीं ऐसा नहीं हो सकता मेरी मां कहती थी कि जब कुत्ते भोंकते हैं तब कुछ ना कुछ तो बात होती ही है , 

जोसेफ : तुम्हें क्या लगता है क्या हो सकता है , 

रॉबिंस : पता नहीं , मैं भी यही सोच रहा हूं कि आखिर यह कुत्ते क्यों भौंक रहे हैं , 

जोसेफ : ज्यादा सोचो मत और सो जाओ , और सोने से पहले एक बार खेत की ओर नजर जरूर डालना , 

रॉबिंस : थिंक है फिर , 

बहुत देर हो गए लेकिन कुत्ते भौंकते ही जा रहे थे , रॉबिंस को कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि अब क्या करें उसे नींद भी नहीं आ रही थी , वह बार बार खेत की ओर बत्ती घुमा रहा था शायद कुछ नजर आ जाए , रात के तकरीबन 2: 00 बज चुके थे , अब कुत्ते की भौंकने की आवाज कुछ ज्यादा ही हो गई थी इतना शोर सुनकर जोसेफ भी जाग गया , 

रॉबिंस : क्या हुआ नींद नहीं आ रही है , 

जोसेफ : नींद तो आ रही है लेकिन इस कुत्तों की वजह से सो नहीं पा रहा हूं , पता नहीं आज क्या हो गया इनको , 

रॉबिंस : मैं भी कब से यही सोच रहा हूं कि आखिर कार ऐसा क्या हुआ है जो कुत्ते इतनी जोर जोर से भोंक रहे है ,

जोसेफ : मुझे बत्ती देना जरा ,

रॉबिंस : ये लो ,

जोसेफ : ( कुछ देर खेत में बत्ती घुमाकर ) मुझे तो कुछ दिख नहीं रहा है , ओर यह रात में इतनी डरावनी है , 

रॉबिंस : लगता है कुछ देर बाद बारिश होगी , 

जोसेफ : इन बादलों को देखकर तो यही लगता है , लेकिन बारिश हो तो कोई बात नहीं है इस कुत्ते को कैसे चुप करे , वैसे तुम्हें क्या लगता है यह कुत्ते क्यों भौंक रहे होंगे , 

रॉबिंस : मुझे ज्यादा तो पता नहीं है लेकिन किसी जंगली जानवर को देख कर कुत्ते हमेशा भोंकते हैं , 

जोसेफ : अरे यार इतना डरा क्यों रहे हो , 

रॉबिंस : मैं डरा नहीं रहा हूं जो सही है वही कह रहा हूं , 

जोसेफ : मुझे भी ऐसा लगता है शायद तुम ठीक कह रहे हो , 

रॉबिंस : अगर ऐसा सच में हुआ तो क्या करेगे , 

जोसेफ : अगर ऐसा सच में हुआ ना तो हम कुछ नहीं कर सकते क्यों की गांव  यहां से बहुत दूर है , 

Terrible night of the farm


जैसे-जैसे रात हो रही थी वैसे-वैसे कुत्ते की भौंकने की आवाज बढ़ रही थी , और कुछ देर बाद आसमान भी बिल्कुल काला हो गया और बारिश की छोटी-छोटी बूंदें गिरने लगी , दोनों एक दूसरे के सामने देखने लगे और सोचने लगे कि अब क्या करें , कुछ देर बाद कुतो को पूरा झुंड उसके खेत में घुस गया , वह उन की फसल को बिगाड़ रहा , जोसेफ ओर रॉबिंस यह सब कुछ देख रहे थे फिर भी उनके पैर नीचे नहीं आ रहा थे क्योंकि हालात कुछ ऐसे थे जो उन्हें रोक कर रख रहे थे , 

जोसेफ : क्या करें अगर हम नहीं गए तो यह हमारी आधी से ज्यादा फसल बिगाड़ देगे , 

रॉबिंस : हां बिल्कुल क्योंकि कुत्ते भी बहुत ज्यादा है , एक काम करते हैं दोनों एक साथ चलते हैं , 

जोसेफ : ठीक है फिर चलो , ध्यान से उतरना , 

रॉबिंस : बिल्कुल 

दोनों नीचे तो उतर रहे थे लेकिन उनके पांव कहां पर रहते हैं पता नही अब क्या होगा , और साथ में बारिश भी थोड़ा तेज हो रही थी , बारिश के साथ-साथ बिजली के कड़ाके भी शुरू हो गए , और जाहिर सी बात है अगर बिजली के कड़ाके शुरू हो गए तो बादल भी गरज रहे होगे , इन सब को अनदेखा कर कर दोनों आगे बढ़ रहे थे , जब वह आगे बढ़े तब उसने कुछ ऐसी आवाज सुनी जिसे सुनकर सायद ही कोई नहीं डरता हो , दोस्तों वह आवाज आखिर किसकी थी आप सब समझ ही गए होगे लेकिन जो लोग नहीं समझे उसके लिए सस्पेंस ही रखते है , 

आज के लिए बस इतना ही रखते है बाकी कहानी लेकर आवुगा पार्ट १३ मै , तब तक के लिए  गुड बाय एंड टेक केयर ,   i hope की आपको यह कहानी अच्छी लगी होगी लेकिन मेरी हर पार्ट मै एक शिख होती है उस जरूर नोटिस कीजिएगा ओर हा जिसे समजमे नहीं आए वह कॉमेंट बॉक्स पर जरूर बताएं , ओर जो बीस में से इस सफर का मजा ले रहा है वह पहले के पार्ट जरूर पढ़े और सबसे खास बात यह कि मैंने जो लाइफस्टाइल के रिलेटिव जो आर्टिकल उसे जरूर पढ़िएगा क्यों की यही मेरे इस वेबसाइट का उद्देश्य है , 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Share your experience with me