शुक्रवार, 31 अगस्त 2018

How to improve our personality development #2 Hindi

personality development : this series for improve our personality and develop our style , communication skill , body language , eye contact over self improvement teach now here , 


personality development
How to improve your personality development



How to improve our personality development

आज के personality development  के ब्लॉग में मेरा जो मेन पॉइंट है वह conversation हैं हम लोगों के साथ बातें कैसे करें कहां पर क्या बात करें वह सब कुछ बहुत मायने रखता है पर्सनालिटी डेवलपमेंट कि इस सीरीज के लिए , कभी-कभी हम अपने दोस्तों के साथ मिलकर जोक्स या क्या कुछ बातें करते हैं और सब लोग हंसते हैं लेकिन पीछे से हमारे पापा या फिर कोई बड़ा हमसे कहता है कि अब तो तुम बहुत बड़े हो गए अब अपने आप में मैच्योरिटी लाओ , इसलिए आज हम बात करेंगे कि किस जगह पर किस माहौल पर हमें क्या बातें करनी चाहिए ,

मैंने अपने पहले सेशन में भी कहा था और आज भी कह रहा हूं कि सबसे पहले आपको अपने आप को एकदम से रिलैक्स रखना है , अगर आप किसी के साथ बातचीत कर रहे हो और आप अपने दिमाग में ला रहे हो कि क्या मैं अच्छे से कम्युनिकेशन कर रहा हूं या नहीं कर रहा हूं तो यह बिल्कुल भी अच्छा नहीं है बातें बिल्कुल रिलैक्स होकर करो आपको सोचना नहीं कि आप क्या बात कर रहे हो , लेकिन बिना सोचे आप किस तरह से अच्छे कन्वर्सेशन कर सके उसका एक बहुत ही अच्छा उपाय मैं आज आपके लिए लाया हूं ,
        

conversation personality 


हर इंसान के पैटर्न हमारे दिमाग में होती है जैसे कि अगर कोई कॉमेडियन हमारे सामने सिर्फ आता है फिर भी हम हंसने लगते अभी तक उसनेे कुुुछ भी कन्वर्सेशन नहीं की है फिर भी हम जानते है की वह क्या करने वाला है तो मैंने अगर कुछ सैंपल से बाद में करो तो भी हमें हंसी आती है क्योंकि उसकी एक पैटर्न हमारे दिमाग में छप गई है , इसी प्रकार हमें भी लोगों के सामने अपनी पैटर्न अच्छी तरह से रखनी है इसीलिए हमें क्या करना चाहिए , सबसे पहले मैं आपको और आपको recommended  करूंगा कि आपको इंग्लिश थोड़ी आनी चाहिए क्योंकि आज के प्रोफेशनल जमाने में इंग्लिश कुछ ज्यादा ही यूज हो रही है ,

अब हमारा सवाल यह है कि हम किसी के साथ क्या बात करें जिसे सुनकर सामने वाले को अच्छा लगे तो सबसे पहले किसी के साथ बात करने के लिए उसका पैटर्न हमारे दिमाग में होना चाहिए जिससे हम उसके साथ बात एकदम से रिलैक्स होकर बात कर सके और उसके हिसाब से उसके साथ बात कर सके , अब  हम जिसे जानते नहीं हैं उसके सामने किस तरह से बात करे , लोगों को जानने के लिए आपको दो सब्जेक्ट पढ़ना पड़ेगा ,

मैंने बहुत बार देखा है कि हर स्टूडेंट सिर्फ और सिर्फ अपने सब्जेक्ट की तैयारी करता है उस से बाहर कभी जाता नहीं लेेकिन ऐसे दो सब्जेक्ट है जिनका नॉलेज होना हमारे लिए बहुत जरूरी है  वही दो सब्जेक्ट जो हमें किसी के भी साथ बात करने में प्रोत्साहित करते हैं और वह दो सब्जेक्ट है साइकोलोजी और फिलोसोफी , दोस्तों इन दो सब्जेक्ट में पढ़ने के बाद आप लोगों के मन को पहचान पाएंगे इसलिए आप इन दो सब्जेक्ट को रोज थोड़ा थोड़ा कर कर जरूर पढ़ें जब आप लोगों के मन को जान पाएंगे तभी आप उसके सामने अच्छी तरह से बात कर पाएंगे

कन्वर्सेशन करते वक्त कुछ लोगों को शो ऑफ करने का आदत होती है दोस्तों जैसे संगीत का एक रयथम होता है इसी प्रकार बातचीत करने का भी एक रयथम है , इसका मतलब यह नहीं की आपको गाना गाते गाते बातचीत नहीं करनी है मतलब कि आपका pronunciation और बात करने का तरीका अच्छा होना चाहिए , सबसे खास बात की बातचीत करते हुए अपने हाथों को बांधकर मत रखें अपने लोगों के साथ तो कोई बात नहीं ,

लेकिन जब आप किसी इंटरव्यू के दौरान या फिर किसी इंटेलिजेंट इंसान से मिलेगी तो वह जान जाएगा कि आप उसके साथ बात करना मैं नर्वस हो रहे हो इसलिए यह बहुत जरूरी है कि बातचीत करते हो आप आप अपने हाथों की moovement करे , और अपनी सिटींग पोजीशन क्या होनी चाहिए वह मैंने आपने पहले ब्लॉग़ में कहा था , 

 learn something new


 आज के जमाने में आप किसी भी चीज को ऑनलाइन सीख सकता है इसलिए कुछ नया सीखना हमारे लिए बहुत जरूरी है अगर हमारे पास कुछ नहीं नॉलेज होगी तभी हम 2 लोगों के सामने अपने आपको साबित कर पाएंगे , जैसे कि अगर आप किसी एक म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट को सीखते हो तो वह आपको बहुत जगह पर काम आ सकता है जैसे कि हमारे कॉलेज और स्कूल के फंक्शन में हमारे घर के कुछ फैमिली फंक्शन में , इसका सबसे ज्यादा फायदा यह है कि लोग हमें पहचानते है ,

सिर्फ म्यूजिक सीखना नहीं और भी बहुत सारे स्किल है आप अपने हिसाब से आप किसी को भी चूस करें और सीखें , हर इंसान का अपना-अपना फैशन होता है उस हिसाब से आप अपनी पहचान बनाइये , जब आप अपने दोस्त का किसीके सामने परिचय करवाते हैं तब आप उसकी अच्छी आदत उसके सामने रखते हैं जैसे कि वह बहुत अच्छा गाना गाता है या फिर बहुत अच्छा गिटार बजाता है या फिर सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट में उसकी बहुत अच्छी नॉलेज है

इसी प्रकार कोई आपका परिचय करें तब आपके पास भी ऐसी कोई नॉलेज होनी चाहिए जो आपके परिचय करने में उसकी सहायता करें और आप दूसरों के सामने अट्रैक्टिव लगे , ज्यादातर परिवार वाले अपने बेटे की खूबियां छुपाने की कोशिश करते हैं लेकिन हमें अपनी खूबियां बढ़ानी है ताकि उसे हमारी खूबियां छुपाना ना पड़े , इसलिए बेस्ट ऑप्शन है आपके पास अपनी पर्सनालिटी डेवलप करने के लिए किसी न्यूज़ चीज को सीखें , 

आई होप कि आप को इस पर्सनालिटी डेवलपमेंट का पार्ट अच्छा लगा होगा , और भी बहुत सारी पर्सनालिटी रिलेटेड बातें लेकर मैं आपके साथ फिर से हाजिर होगा तब तक के लिए गुड बाय एंड टेक केयर all , 

0 comments: