बुधवार, 22 अगस्त 2018

Heard touching love story भीगी भीगी सड़कों पे मै तेरा इंतजार करूं

Love story : this is the one of the best heart touching love story , Love Story teaches us the meaning of love , This is the story of an inspirational love ,


Heard touching love story
 Heard touching love story


Heart touching love story    

अगर देखा जाए तो जिंदगी में लव स्टोरी अनंत है सबकी अपनी अपनी लव स्टोरी होती है और  अलग-  अलग होती है ,  सबका मिलना उसका प्रपोज करना सब की स्टाइल अलग अलग होती है वेन्यू अलग होता है माहौल अलग होता है लेकिन फिर भी हर लव स्टोरी में एक अलग ही मजा होता है सबको अपनी-अपनी लव स्टोरी पसंद होती है और सबको उस लव स्टोरी से जुड़ी हर यादें भी बहुत पसंद होती है , इसी प्रकार मेरी भी एक लव स्टोरी है जो मैं आज आप  सबके सामने रखना चाहता हूं, 

रोज की तरह अपने लेक्चर फिनिश करके मैं सड़क से जा रहा था मुझे नहीं पता था कि आज मेरे साथ क्या होने वाला है कभी सोचा नहीं था कि मुझे भी कभी लव का रोग लग जाएगा क्योंकि मैंने सोचा था कि सारी पढ़ाई खत्म करके देखते है  उसके बाद इन सब झंझटों में पड़ेंगे लेकिन कहते हैं ना कि प्यार करना हमारे बस में नहीं है वह तो सिर्फ हो जाता है ,

लोग सही कहते हैं कि जब प्यार होता है तब आस पास कुछ भी सुुुुनाई नहीं देता दिमाग काम करना बंद कर देता है , आज मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ , जब कॉलेज से मैं अपने हॉस्टल की तरफ जा रहा था तब मेरे हाथ में एक मोबाइल था  जििसमें रोमांटिक गाने बज रहे थे और मेरे सामने कुछ दूरी पर दो लोग जा रहे थे उसके आगे क्या था मुझे कुछ दिखाई नहीं दे रहा था , मैं अपनी धुन में बस चलता जा रहा है उनके पीछे-पीछे ,

अचानक एक आदमी राइट की ओर चला गया और दूसरा आदमी लेफ्ट कर चला गया और उसके बीच में लड़की निकली जिसे देखकर पता नहीं आप सबको क्या कहूं मेरा दिमाग एकदम से सुन्न हो गया , उसकी नजरें झुकी हुई थी उसने स्कूल का ड्रेस पहना हुआ था उसके left हाथ पर बैग था और उसका जो राइट हैंड था वह कुछ ज्यादा ही उछल रहा था , जब वह एकदम से मेरे पास से गुजरी तब उनकी आंखों ने जो करवट ली उसकी एक झलक ने मुझे दीवाना बना दिया , मेरे जिस हाथ पर मोबाइल था उनकी आंखें उसकी तरफ इस तरह से मुड़ी कि मैं फिदा हो गया ,

कुछ देर बाद हम दोनों एक दूसरे से क्रॉस कर गए और यह मुलाकात यहीं पर थम गए , मुझे लगा कि सड़क पर मे रोज कितनी लड़कियों को देखता हूं वापस वह लड़की मुझे दिखेगी या नहीं दिखेगी मैं कुछ देर के लिए उसे भूलना चाहता था लेकिन मेरा दिमाग मुझे बार-बार उसकी तरफ खींच रहा था ,

कुछ देर बाद जब मैं अपने हॉस्टल पहुंचा तब अपने दोस्तों के साथ हंसी मजाक मैं उसे भूल गया मैंने सोचा यह तो रोज का है रोज ऐसे ही बहुत सारी लड़कियां सड़क पर दिखती है फिर कल नहीं दिखती है ऐसा तो रोज होता है , यह लड़की भी मुझे आज देखी है कल शायद ना भि दिखे इसलिए इसे भूल जाने में मेरी भलाई है , रात को सोते वक्त भी उसके ख्याल आ रहे थे और बार-बार उनकी आंखे मुझे सता रही थी रात को तकरीबन 1 या 2: 00 बजे मुझे नींद आए ,


भीगी भीगी सड़को पे में तेरा इंतजार करू


मेरे कॉलेज और हॉस्टल के बीच में तकरीबन 2 किलोमीटर का रास्ता है , मेरी कॉलेज रोज सुबह 7: 00 बजे से लेकर 10: 00 बजे तक होती है , आज भी में अपनी कॉलेज की पढ़ाई खत्म करके जा रहा था तब कहीं ना कहीं मेरे दिमाग में वह लड़की बस गई थी मेरी आंखें सड़क पर उसको देखना चाहती थी शायद कि आज भी मुझे वह दिख जाए , बहुत देर तक चलने के बाद भी मुझे वह कहीं भी दिखाई नहीं दी ,

अब मैं अपनी हॉस्टल से कुछ ही दूरी पर था मुझे लगा था कि आज तो शायद वह मुझे नहीं दिखेगी तभी अचानक मुझे कुछ लड़कियां दिखाई दी जिसने भी वही ड्रेस पहना था जो ड्रेस उस लड़की ने पहना था मैंने उस लड़कियों में से उस लड़की को खोजने की कोशिश करी बहुत मेहनत करने के बाद भी मुझे उसमें वह दिखाई नहीं दी , मैं वापस नाराज हो गया पता नहीं कैसी नाराजगी थी ,

मैं चलने लगा तभी अचानक मेरी हॉस्टल से पहले एक नगर का रास्ता पड़ता है वहीं से उस लड़की ने यू टर्न लिया उसे देखकर मैं पहचान गया कि यही है वह लड़की जो मुझे कल देखी थी उस लड़की की नज़र जुुकी हुए थी कल की तरह , आज भी वह अपने हाथ एक हाथ में बैग और दूसरा हाथ कुछ ज्यादा ही हीलाती हुई जा रही थी ,

मे यह सोच कर बहुत हैरान था कि वह लड़की अकेली जा रही थी और उसके साथ एक भी सहेली नहीं थी और उनकी क्लास में उनकी जो सहेलियां थी वह उनसे  कुछ ही दूरी पर जा रही थी  फिर भी वह उनके साथ नही थी , मुझे वह इंटरेस्टिंग पर्सनालिटी लगी , उसके बारे में जानने की सोचने की उसके साथ बात करने की मेरी इच्छा हुई ,

मैं अपने हॉस्टल के दोस्तों के पास जाकर उनसे पूछने लगा कि वह ड्रेस कौन सी स्कूल का है बहुत मेहनत के बाद मुझे उस स्कूल का पता और टाइम टेबल पता चला , अब मैं रोज उसी टाइम पर वहां से गुजरता था और उस लड़की को नोटिस करता था , रोज वह 11 बस कर 25 मिनट पर वह रोज नगर के नाके से गुजरती   और 11: 45 पर वह अपने स्कूल पहोचती थी ,


Inspiration love story


मैंने भी अपना टाइम फिक्स कर लिया मैं कॉलेज पर एक घंटा लाइब्रेरी में बैठने लगा उसके बाद ठीक 11: 00 बजे सड़क से गुजरता , हमारी रोज यूं ही अनकही मुलाकात होती रहती मैं उसे गौर से देखता हूं लेकिन वह अपनी नज़र  चुका कर रखती , वह  हमेशा अकेली रहती एकदम से स्लो मोशन में चलती थी लेकिन फिर भी मुझे उसकी चाल से बहुत लगाव था , और खास करके उसकी आंखों की हरकतों पर और उसके हाथ की मूवमेंट पर मुझे बहुत लगाव हो गया था , पता नहीं क्यों लेकिन मुझे सबसे जुदा और सबसे अलग अंदाज उसके लगते थे , 

इसी तरह तकरीबन आधा साल गुजर गया मुझे अभी तक उसका नाम भी नहीं पता था और मैंने किसी से भी यह बात भी शेयर नहीं करी थी हम रोज यूं ही मिलते थे इसे मिलना तो नहीं कहते लेकिन मेरे लिए इतना बहुत हो गया था , ऐसा नहीं था कि मैं डरता था उसके साथ बात करने से , उसको प्रपोज करने से ,  मुझे अपने आप से डर था मुझे अपने कल का दर था , क्योंकि बहुत बार हमारे आज किया हुआ काम ,  हमारी हरकत हमें अपने कल में रुलाते हैं , लेकिन बहुत मेहनत करने के बाद अपने कल की परवाह करें बिना मैंने इस बात को आगे बढ़ाने की कोशिश की ,

मेरी हॉस्टल के कुछ स्टूडेंट थे जो उसके साथ स्कूल में पढ़ते थे मैंने उसके साथ बात करने की कोशिश की डायरेक्टली नहीं तो इन डायरेक्टली मैंने उसके बारे में कुछ छोटी जानकारियां पता करी जैसे कि उसका नाम वह कौन सी क्लास में पढ़ती है उसका कोई बॉयफ्रेंड है या नहीं है , सब जानने के बाद मुझे पता चला कि वह सिर्फ 10th क्लास में पढ़ती थी और बहुत सारे स्टूडेंट ने उसे प्रपोज किया था लेकिन उसने कभी भी किसी को हां नहीं कहा था और उसका नाम ............................... पूनम था ,

Best love story


बहुत रात तक सोचने के बाद मैंने यह डिसीजन लिया कि कल सुबह मैं उसके साथ बात करने की कोशिश करूंगा , और फिर सोने की कोशिश करने लगा क्योंकि प्यार में नींद आना इतना आसान नहीं है , कुछ लोगों को कभी-कभी देखता था कि वह कितने पागल है जो प्यार के लिए पूरी पूरी रात जागते थे , मुझे नहीं पता था कि मुझे भी बहुत जल्दी यह रोग होने वाला है आज पता चला कि जिसने भी ये दिल दिया उसके लिए यह लंबी लंबी काली रात गुजारना कितना मुश्किल है आज पता चला सब , 

आज कॉलेज मै क्लास अटेंड करने मै मजा नहीं आ रहा था एक आधा अधूरा क्लास कंप्लीट करके अपने दोस्तो के साथ उसकी प्यार मोहाबत की कहानी सुन रहा था इसी बहाने कुछ टिप्स मिल जाए शायद लेकिन अफसोस कुछ नहीं मिला , अब टाइम गुजर गया था में आज कुछ ज्यादा ही पहले निकल गया था लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ मुझे कुछ देर के लिए रास्ते पर खड़ा रहना पड़ा , कुछ देर बाद थोड़ी देर से मुझे उनके आने की झलक दिखाई दी लेकिन अफसोस की बात तो यह थी दोस्तों की उसके साथ एक छोटा सा सात आठ साल का बच्चा था जिसका हाथ पकड़ कर वह आ रही थी , मेरा पूरा प्लान चौपट हो गया फिर मैंने अपने आप को काबू किया और अपने हॉस्टल चला गया ,

कॉलेज में मेरे साथ एक दोस्त था जो नगर में रहता था कभी-कभी वह मेरे साथ आता रहता था उसे पता चल गया था कि मुझे वह लड़की बहुत पसंद है आज अचानक उसने मुझे पूछ लिया कि तुम्हें पूनम पसंद है मैंने कुछ देर हा ना करी उसके बाद हां कर दी , मुझे लगा कि शायद इसका कोई रिश्ता होगा उनके साथ लेकिन ऐसा नहीं था , आज जब मैं और वह लड़का एक साथ जा रहे थे उसने मुझे कहा कि चलो मैं तुम्हें एक दोस्त से मिलवाता हूं ,

मुझे अपने दोस्त के पास ले गया उसके दोस्त ने मुझसे जो कहा वह सुनकर मेरे तकरीबन डेढ़ साल बिगड़ गये , उसने मुझे कहा कि तुम जिस पूनम से प्यार करते हो वह मेरी गर्लफ्रेंड है इसलिए तुम उसे भूल जाओ वरना तुम्हारे लिए अच्छा नहीं होगा , यह सुनकर मैंने पूरे डेढ़ साल तक अपनी नजर झुका दी ,

After the 2 year 


मेरी कॉलेज की 2 साल गुजर गए मैं लास्ट ईयर में था और वो 12th क्लास में पहुंच गई थी , लेकिन हमारा जो यह सफर था रोज रास्ते पर मिलना एक दूसरे को क्रॉस करना यह सिलसिला तो पिछले 2 साल से शुरू था , कभी कभी तो ऐसा लगता था कि वह मुझसे प्यार करती है क्योंकि कभी कभी उस को आता देख कर मैं अपनी साइड चेंज कर लेता उसकी रॉन्ग साइड पर आ जाता लेकिन वह फिर भी मेरी साइट पर आ जाती थी , पहले वह कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखती थी लेकिन  आज जब मैंने पीछे मुड़ कर देखना बंद कर दिया है तब कभी कभी वह  पीछे मुड़कर देखने लगी थी ,

कभी कभी मुझे लगता था कि वह सड़क पर मेरा इंतजार कर रही हैं , ओर खास बात तो यह थी कि उनकी जुकी हुवी नजर जरा उठने लगी थी लेकिन कोई फायदा नहीं था मै उसे इंगनोर करता रहता लेकिन आज अचानक मेरा एक दोस्त जो उसके साथ पढ़ता है मेरी कॉलेज में दाखिल हुआ ,

फर्स्ट ईयर में था मैं उनसे मिलकर बहुत खुश हुआ बार-बार मेरा दिल करता था कि मैं उसको पूनम के बारे में पूछु , एक बार हिम्मत करके मैंने उनसे पूनम के बारे में पूछे लिया , उसने मुझे कहा कि तुमने जो सुना है वह बिल्कुल गलत है मुझे नहीं लगता कि पूनम का कोई बॉयफ्रेंड है और ना ही कभी था और नाही कभी शायद होगा क्यों की पूनम ऐसी लड़की कभी नहीं थी वह हमेशा पढ़ती रहती ओर कभी कोई उन्हें प्रपोज करता तो वह उसको हमेशा मना कर देती ,

मैंने उसे उस लड़के से मिलवाया जो कह रहा था कि वह उनकी गर्लफ्रेंड है उसने मुझसे कहा कि यह लड़का उसका बॉयफ्रेंड नहीं है क्योंकि इस लड़के को भी पूनम ने एक बार नहीं 3 बार मना कर दिया फिर भी यह उनके पीछे पड़ा है , मैं दंग रह गया सोचने लगा कि मुझसे क्या गलती हो गई , कुछ समझ में नहीं आ रहा था , 

आज मैंने सोच लिया था कि आज कुछ भी हो जाए मैं उसे पूछ कर रहुगा , बारिश की वजह से सड़क भीगी हुई थी , मैं उसी सड़क पर आज सुबह से उसका इंतजार कर रहा था , कुछ देर बाद एक लड़की आई जो कभी कभी पूनम के साथ होती थी मगर उसके साथ पूनम नहीं थी , मैंने देखा की वह लड़की मेरी तरफ आ रही है और उसके हाथ में एक पत्र और एक किताब जेसा कुछ था ,


में ज्यादा सोचता उसके पहले वह मेरे पास आई मैंने देखा की उसकी आखे नम थी और मेरे लिए बहुत सारा गुस्सा भी उसकी आखो में मैंने देखा , कुछ समझ में नहीं आ रहा था थोड़ी देर मुझे देखकर उसने मुझे वह पत्र और किताब जो डायरी थी वह मेरे हाथो में रख दी और वहां से चली गई , में अंदर से बहुत खुश हुवा क्यों की मुझे लगा की यह पत्र 110% पूनम ने मेरे लिए लिखा होगा अब मुझे उसे प्रोपोज़ भी नहीं करना पड़ेगा , में बहुत खुश हो गया और जल्दी जल्दी से वह पत्र को खोलने लगा और पढ़ने लगा , उसमे लिखा था की ,


Heard touching letter


मुझे आपको यह बताने की जरुरत नहीं है की में कौन हु क्यों की इतने सालो में हम एक दूसरे को इतना जान गए है की हमारी एक आहट भी हमें एक दूसरे का होने का एहसास दिलाती है , मुझे पता है आपने मेरे बारे में बहुत सारी जानकारियां हासिल करी होगी इसलिए आपको यह पता होगा की मेरे मम्मी पापा नहीं है में अपनी मौसी के साथ रहती हु , मैंने यह लैटर आपको एक बहुत इम्पोर्टेन्ट बात करने के लिए लिखा है , 



दो दिन पहले मेरी मौसी ने मुझे पास बुलाया और कहा की पूनम कल से तुम्हारी पढाई लिखाय बंध क्यों की हमने बचपन से ही तुम्हारी शादी तुम्हरे मामा के बेटे के साथ तय कर दी थी और अब तुम्हारी उम्र हो गई है इसलिए हमने सोचा है की अब तुम्हारी शादी कर देनी चाहिए , में सुनकर कुछ देर मौन रही और फिर बहुत सोचने के बाद मैंने कहा की अभी तो मेरी पढाई पूरी भी नहीं हुवी है , मगर मौसी ने मेरी बातो को ध्यान में नहीं लिया और चली गई ,



अब आप सोचेगे की मैंने आपको यह पत्र इसलिए लिखा है ताकि आप मुझे यहाँ से ले जाये लेकिन एशा नहीं है क्यों की आप जब यह पत्र पढ़ रहे होंगे तब में ऊपर आसमान में से आपको देख रही होगी , क्यों की मैंने अपनी सांसो को कबका रोक दिया है में जानती हु की मेरी जान सिर्फ मेरी नहीं है  उसपे आपका भी हक़ था इसलिए मैंने आपके लिए यह पत्र और मेरी डायरी भेजी है 




मगर अफ़सोस में आपके लिए अपनी सांसे नहीं रोक पाई क्यों की अगले दो दिन बाद मेरी सगाई थी और मेरी उंगली में किसी और के नाम की अंगूठी हो वह में सह नहीं पाती और अपने मौसी के खिलाफ भी नहीं जा सकती क्यों की मेरी जान पर उसका बहुत बड़ा अहेसान है , इस पत्र में ज्यादा नहीं लिखना चाहती क्यों की मैंने अपनी डायरी में सिर्फ और सिर्फ हमारे रिश्ते के बारे में ही लिखा है उस वक़्त से जिस से हम मिले है उस हर मिलन का विवरण मैंने अपनी डायरी में लिखा है ,




मुझे पता है आपकी आँखो में से आशु निकल रहे है मगर सच मानिये मेरे पास इसके अलावा और कोई चारा नहीं था और यह सब आपको तब पता चल जायेगा जब आप मेरी डायरी पढ़ेंगे , मगर कुछ बाते जो मुझे आपको अभी बतानी है जो मैंने आपके लिए महसूस करी है जिसके सहारे मैंने 2 साल गुजार दिए , आप यह मत सोचना की में आप पर अपनी जान का बोज सोप कर चली गई और जीते जी में आपकी नहीं हो सकी और मरने के बाद आप हक़ जता गई ,




मैंने यह पत्र इसलिए आपको भेजा ताकि मेरी रूह आपको परीशान ना करे , क्यों की आपके पास आपकी पूरी जिंदगी है जो आपको मेरे लिए जिनी है , और इस जनम में आप जिसके साथ भी शादी करो मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है मगर सिर्फ इस जनम के लिए , 



मुझे पता है भगवान ने इस जनम में आपके लिए जो भी लड़की आपके लिए पसंद की होगी वह बहुत अच्छी होगी जिसे मिलने के बाद आप हमें भूल जायेगे क्यों की आप हो ही इतने प्यारे आपको तो अच्छी लड़की मिलनी ही थी मगर आपको सिर्फ इस जनम के लिए छोड़ कर जा रही हु इसलिए आवेश में आकर अपने होने वाली बीवी से सात जनम साथ रहेगे वेसा वादा कभी मत देना और ना ही लेना , इस जनम के कुछ पल जो बहुत हसीन थे मैं उसके बारे में आपके साथ कुछ गुफ्तगू करना चाहती हूं ,



15 अगस्त 2016 को आपका दोस्त एकदम से मेरे पीछे आ गया था और आप दूर खड़े उसको हाथ जोड़ रहे थे और चिल्ला चिल्ला कर कह रहे थे कि प्लीज ऐसा मत करो , कुछ दिन तो मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर आपका दोस्त करने क्या वाला था मगर बहुत सोचने के बाद मुझे यह पता चल गया कि शायद आपका दोस्त आपकी और से मुझे प्रोपोज़ करने वाला होगा और आप डर रहे होंगे क्यों एशा ही हुवा था ना , इन सारे सवालों के जवाब जब हम ऊपर आसमान पर मिले तब बताना और अगर हो सके तो रात को किसी सितारे को देख कर चिल्लाकर मेरे सवालों के जवाब देना मैं सब कुछ सुन लूगी ,




पिछले साल नवरात्रि पर आप मुझे देख कर गुस्सा हो कर चले गए थे क्योंकि मैंने जीन्स पहना हुवा था मैं सब कुछ समझ गई थी मगर क्या करूं मेरी जो सहेली है ना उसने मुझे जबरदस्ती पहना दिया था , मगर कसम से उसके बाद से मैंने कभी भी जीन्स नहीं पहना है , और एक बात कहनी थी मगर प्लीज गुस्सा मत होना , आप ना पिंक कलर के शर्ट में बिलकुल अच्छे नहीं लगते हो आपको yellow , blue और सबसे ज्यादा आप plane ब्लैक शर्ट में बहुत अच्छे लगते है ,



जिंदगी से कोई गिला और शिकवा नहीं है मगर में जानती हु आप सिंगर बनाना चाहते है और मैंने आपकी आवाज नहीं सुनी बस यही दर्द साथ लेकर जा रही हु , कुछ गाने मेरे लिए भी गाना मगर दर्द भरे नहीं , और मेरा एक छोटा भाई है जिसे हमारे बारे में सब पता है हो सके तो उसका ख्याल रखना , आखिर में बस इतना कहना चाहती हु आज के बाद सड़क पर मेरा इंतजार मत कीजियेगा ,





         

0 comments: