बुधवार, 18 जुलाई 2018

Island का सफर part 10 Robins start his work

Island tour : This is the story of Island tour which started with a little baby boy , And much more learned during this journey , How many troubles did the little child cross this island tour ,  all we have seen through this story , 

  Island का सफर , मोटिवेशनल स्टोरी part 10


Island का सफर , मोटिवेशनल स्टोरी
Island का सफर  एक बहादुर बच्चे की कहानी 


रोबिन को काम किया बहुत दिन हो गए थे वह रोज अपने काम पर जाता था और अपना काम करता था वह उनकी आदत बन चुके थी , क्योंकि उनके पास अभी बहुत अच्छा दोस्त था इसलिए अब उसको कुछ भी अकेलापन नहीं होता था वहां पर जाकर वह दोनों रोज एक साथ बातें करते थे और पूरा दिन हंसी मजाक के साथ गुजार लेते थे , 

अब बहुत दिन गुजर गए हैं रोमन के काम के हुए और उनके बहुत सारे पैसे भी जमा कर लिए थे उन्होंने लेकिन वह सारे पैसे बहुत कम थे अपने वतन पर जाने के लिए इसलिए उन्हें और भी बहुत सारा काम करना था और बहुत सारे पैसे कमाने थे तभी जाकर वह अपने वतन के लिए जा सकता था , 

रात को वह जोसेफ  के  साथ बातें करता उनके मां के साथ बातें करता , उन्हें सबसे ज्यादा अगर कोई काम आया है तो वह था जोसेफ ओर उनकी मा , रोज रात को जब छोटा था बस उनके बारे में सोचता था कि कैसे उनका यह उपकार वह अदा करेगा क्योंकि उन्होंने जो रॉबिंस  के लिए किया है वह शायद ही कोई करता है ,


1 साल हो गया था रॉबिंस ने अपने पूरे साल के पैसे को जब मिलाया तो वह कुछ भी नहीं था और वह पैसे जो थे उनसे वह अपने घर पर नहीं जा सकता था और अगर उन्हें घर पर जाना हो तो अगर वह वहां पर काम करता तो शायद मैं 5 या 7 साल लग जाते क्योंकि वह जो पैसे थे वह बहुत कम थे ,

रॉबिंस : अगर एक सालमें मैंने इतने पैसे ही कमाए है तो मुझे बहुत साल लग जाएंगे ओर मै अपने घर पर कभी नहीं जा पावुगा ,

जोसेफ : क्या कर सकते है ,

रॉबिंस : मुझे अब रात को भी काम करना पड़ेगा तभी सायाद मै घर जा सकता हूं ,

जोसेफ : क्या कर सकते हो तुम मुझे नहीं लगता कि अब शायद तुम्हें कोई और काम मिलेगा और अगर अभी तो क्या तुम कर पाओगे वहां का वैसे भी तुम जब रात को आते हो तब बिल्कुल थके हुए होते हो ,

रोबिन : लेकिन और कोई रास्ता भी तो नहीं है ना अगर मैं यूं ही काम करता रहा तो बहुत साल लग जाएगा यहां से जाने के लिए और मैं तुम लोगों पर ओर ज्यादा बोझ बनकर नहीं रहना चाहता ,

जोसेफ : क्या बात करते हो यार तुम यहां हो इसलिए हमारे घर में रौनक है और तुम कहते हो बोज , जानते हो तुम तुम यहां पर हो इसलिए हमारे चेहरे पर मुस्कान है वरना हम ना कोई पूछने भी नहीं आता और तुम्हारे कारण मुझे मेरा भाई मिल गया ,

रोबिन : यह कह कर तुमने मेरी बहुत बड़ी परेशानी हल कर दिए मेरे भाई , लेकिन मुझे भी मेरा परिवार बहुत याद आ रहा है और मुझे बहुत जल्द वहां पर जाना है इसलिए मुझे काम तो करना ही पड़ेगा ,


जोसेफ : लेकिन क्या करोगे तुम ,

रॉबिंस : पता नहीं ,

जोसेफ : हम दोनों मिलकर कुछ व्यापार शुरू करते हैं जिसमें शायद हमारे आमदनी बड़े कुछ ऐसा जिसने हमें बहुत पैसे मिले ,

रोबिन : लेकिन क्या ,

मा : मेरे पास एक उपाय है , लेकिन उनमें तुम्हें बहुत सारे पैसे से पहले लगाने होगे उनके बाद तुम्हें सफलता जरूर मिलेगी ,

रॉबिंस : क्या माल हमें बताएं हम कुछ भी करेंगे ,

जोसेफ : हां हां बताइए ना क्या है वह  जिसे करने में हमें कुछ फायदा है ,

मा : हमारी जो जमीन है अगर तुम उनमें कुछ पैसे अभी लगाते हो तो शायद हो तुम्हें बहुत सारे पैसे देंगी ,

जोसेफ : हा मा  बहुत अच्छी बातें क्यों रोबिन ,

रोबिन : लेकिन जमीन का पूरा खर्चा मैं करूंगा ठीक है ,

जोसेफ : पूरा खर्च तुम क्यों करोगे कुछ खर्च में भी करूंगा क्योंकि हम दोनों का यह व्यापार है ,

रोबिन : उसकी जरूरत नहीं पड़ेगी मेरे पास इतने पैसे है कि हमारी जो जमीन बिल्कुल ठीक हो जाएगी ,

जोसेफ : ठीक है लेकिन इस साल का बीच में अपने पैसों से लूंगा ठीक है ,

रोबिन : लेकिन

मा : अब कुछ मत बोलो रोबिन यही ठीक है हम तुम्हें सब कुछ खर्च करने नहीं देंगे ,

रोबिन : ठीक है फिर ,

आखिरकार रोबिन को एक काम मिल गया जिसमें शायद वह बहुत सारे पैसे कमा सकता था और अब उनके साथ जो जोसेफ भी था , सब कुछ निर्णय होने के बाद रोबिन सीता वहां गया जहां पर वह पहले काम करता था और वहां जाकर और वहां जाकर उन्होंने शेठ के साथ बात की और काम छोड़ दिया , सब कुछ करने के बाद वहां गया जहां पर उनके साथी मित्र काम कर रहे थे वहां पर जाकर सबसे विदाई ली और अपना यह काम छोड़ने की वजह भी बताई ,


0 comments: