Search here

बुधवार, 20 जून 2018

अपनी जिंदगी के निर्णय केसे करे How to take our life decistion

Decision : how to make big life changing decisions how to make the best decision for yourself how to make a decision about a relationship

 How to take our life decistion


How to take over life decistion
अपनी जिंदगी के निर्णय केसे  करे How to take our life decistion


सुरु करने से पहले एक बहुत ही ,intestring स्टोरी कहना चाहूंगा प्लीज़ ध्यान। से सुनिएगा , अगर अपने इस स्टोरी को सुन लिया तो सायद् आपको मेरा पूरा आर्टिकल पढ़ना ना पड़े,

एक बार में अपने सिस्टर के घर गया , मेरी सिस्टर के दो बच्चे है एक लड़का एक लड़की , लड़की ३ साल की ओर लड़का ६ साल का , जब में वहा चैर पर बैठा था तब मैने देखा कि को छोटी सी बच्ची थी ओ एक बार्बी डोल के साथ देख रही थी , तभी अचानक वहा मेरी दी का बडा बेटा आया , उसके हाथ में रोबोट था , वो वहा पर रोबोट। के साथ खेल रहा था ओर लड़की डोल के साथ , 

जब तक लड़का बिना खुश हुई उस रोबोट के साथ खेल रहा था तब तक सब ठीक था तभी अचानक लड़का जोर जोर से हंसने लगा , लड़की की नजर उसपे पड़ी , उसने देखा कि लड़का रोबोट साथ हस हस के खेल रहा है वो वहा पर गई उसने धीरे से रोबोट को टच किया तभी लड़के ने उसका हाथ हटा दिया लड़की जोर जोर से रोने लगी , फिर  जैसे हम बचपन में कहा जाता था कि उसे रोबोट देदो वो तुमसे छोटी है हम तुम्हारे लिए दूसरा के आयेगे तब जाकर लड़के ने वो रोबोट बच्ची को दिया लड़की रोबोट लेकर खेलने लगी , 

अपनी जिंदगी के निर्णय केसे  करे 


तभी मैंने लड़के से कहा जाव तुम चेस लेकर आव हम खेलते है , लड़का चेस लेकर आया हम चेस खेलने लगे थोड़ी देर चुप चाप खेलने के बाद  में बात बात हसने। ओर हाईफाई देने लगा लडके को , हमें  हसता देख कर लड़की वहा अाई ओर चेस में से जो हाथ ।में आया हाथी घोड़ा उट लेकर भाग गई तभी मैंने लड़के से कहा जाव जाकर अपना रोबोट ले लो ,
    
तो क्या दोस्तो आपको कुछ समझ में आया , अगर नहीं तो सुनिए , हम जब भी  कोई डिसिशन लेते है तो अपने आसपास देखते है , देखने के बाद सोचते है की ओ इंसान उस काम में बहुत खुश है इसलिए।  हम भी वो करेगे ओर आगे जाकर आपको ओ काम अच्छा नहीं लगता आप किसी  ओर को देखते हो फिर वहा चले जाते हो पता है क्यों दोस्तो क्यों की अपना मन अभी भी बच्चो जैसा है , आज आप भले ही बड़े हो गए हो लेकिन आपका मन आज भी बच्चो की तरह जिद करता है , तो क्या करे इस समय जब कोई decistion लेने का वक़्त आए ,


Decistion केसे ले 

दोस्तो हमारे जीवन का हर क्षण निर्णय। का क्षण होता है , कोई भी एशा वक़्त नहीं है जब हमें निर्णय ना करना पड़े , किसी पद निर्णय किसी रिश्ते का निर्णय किसी भी काम को करने के लिए हमें निर्णय लेना पड़ता है , ओर किसी भी निर्णय को जब हम लेते है तब वो निर्णय हमारी जिंदगी में अपना प्रभाव छोड़ जाता है , क्यों की आज लिए गया हर एक फैसला ये सूचित करता है कि हमारा भविष्य क्या होगा इतना ही नहीं दोस्तो हमारे निर्णय का प्रभाव हमारे परिवार और आने वाली पीढियों पर पड़ता है , 

जब हमें कोई निर्णय लेना होता है तब हमारा मन व्याकुल हो जाता है , मन में बहुत सारे खयाल आने लग जाते है , निर्णय लेने का यह क्षण युद्ध भूमि का मैदान बन जाता है , ओर अपने मन को शांत करने के लिए हम जल्दी से कोई ना कोई निर्णय ले लेते है , पर क्या कोई इंसान दौड़ते दौड़ते खाना खा सकता है दोस्तो नहीं। ना, फिर इतनी सरी व्याकुलता के साथ लिया हुआ फैसला केसे सही हो सकता है , 

इसलिए व्याकुल मन ।से लिए हुवे फैसले आगे जाकर हमें ओर हमारे परिवार को पलट कर रख देते है , इसीलिए जब भी कभी कोई निर्णय लेने का समय आए तब अपने दिमाग को शांत रखकर वो निर्णय ले क्यों की शांत में से लिए हुआ हर निर्णय सही होता है , जब कोई इंसान शांत मन से निर्णय लेता है वो अपने जीवन में सुखी होता है ओर जो इंसान व्याकुलता में निर्णय लेता है वो अपने जीवन में दुःख का निर्माण करता है, कभी सोचकर देखना दोस्तो ,


सलाह (advice)



हमें कोई निर्णय लेना होता है तब हम किसी की सलाह पर निर्भय रहते है उसके दिए गए सुझाव को अपनी ज़िन्दगी की नीव बनाते है इसलिए हमारा जीवन किसी ओर पर निर्भय हो जाता है , इसलिए कभी किसी की राय को अपने ज़िंदगी में उतार ने से पहले अपने दिल को पूछो तुम्हे क्या अच्छा लगता है , कोई एक इंसान है जिसे एक्टर बनना है एक्टर में उनकी रुचि है लेकिन उनका दिल कहता है एक्टर बनना तो नामुमकिन है इसलिए वो इंसान वो सब करता है जिसमें उनकी रुचि ही नहीं है , 

ओर एक इंसान एशा भी होता है जिसे आरपीएफ ऑफिसर बनना है लेकिन उसका दिल कहता है कि आरपीएफ में तो कम सेलरी मिलती है , इसलिए वो डॉक्टर या इंजीनियरिंग की तयारी करता है ,अगर आपके सामने दो रूम है जिसमें से एक रूम में आपकी फैमिली है ओर दूसरे में वो है जिसे आप पसंद नहीं करते ,तो आप वही जावॉजे जहा पर आपकी फैमिली है क्यों कि आप उन्हें पसंद करते है उनके साथ लाइफ बड़े आराम ओर खुशी से कटेगी , 

फिर आप अपनी जिंदगी उस फिल्ड में केसे बितावॉजे जिसमें आपका इंट्रस्ट ही नहीं है केसे उसमे अपनी जिंदगी के अमूल्य ५० साल उसमे लगा दोगे , हर रोज जब आप ऑफिस से घर पहोचेगे तब आप रोज थके हुवे होगे क्यों की आप ने वो काम किया है जो आपको कभी पसंद ही नहीं था , लेकिन अगर आप वो काम करोगे जिसमें आप को अच्छा लगता है अगर उसे आप १५ घंटे भी करोगे फिर भी आपके चहेरे में एक खुशी होगी , इसलिए निर्णय लेते वक्त हमेशा अपने ,    तभी आप कोई सही निर्णय ले सकते हो , 


How to take our life decisions
अपनी जिंदगी के निर्णय केसे  करे How to take our life decistion
     

निर्णय लेने के कुछ स्टेप


How to take our life decisions
निर्णय लेने के कुछ स्टेप

समस्या को परिभाषित करें

समस्या को परिभाषित करना मतलब उसके बारे में डीप   मैं सोचिए की आपके निर्णय से आगे जाकर क्या होगा , उसके बाद अगर आपको आपका जवाब मिल जाए तब उस पर विकल्प पसंद कीजिए अगर आपके पास है तो उस लाभ  या हानि के विषय पर सोचे उसका पूरी तरह। से मूल्यांकन करे सबकी एक सूची बनाइए उसके बाद निर्णय करे, 

  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Share your experience with me