शनिवार, 28 अप्रैल 2018

Island का सफर - एक बहादुर बच्चे की कहानी

Island का सफर - मोटिवेशनल स्टोरी

Island का सफर
Island का सफर  एक बहादुर बच्चे की कहानी 

यह कहानी है island के सफर की , इस कहानी के जरिए मैं आपको कुछ लाइफ रिलेटेड नॉलेज देना चाहता हूं कुछ बातें जो हम भूल गए हैं कुछ बातें जो हम से जुड़ी हुई है मैं चाहता हूं कि आप को इस कहानी के जरिए सब कुछ बतावू क्योंकि मेरा यह ब्लॉग सिर्फ लाइफ रिलेटिव है और मैं अपने ब्लॉग में सिर्फ जिंदगी जीने के कुछ आसान तरीके बताता हूं जिसे सुनकर आपको आपके जिंदगी से प्यार हो जिसे सुनकर आप अपनी लाइफ बहुत अच्छी तरह से जी पाए ,

अगर मैं आपको सीधी तरह से कह दूं जो मैं आप सबको कहना चाहता हूं तो आपको शायद मेरी बात समझ में ना आए या फिर आपको वह लेक्चर लगे इसलिए मैंने एक सुंदर कहानी के रूप में जिसका नाम है island की सफर वह मैं आपके सामने पेश करने जा रहा हूं मुझे पूरा यकीन है कि आप सब को यह कहानी बहुत अच्छी लगेगी मेरा आपसे दावा है कि मेरी हर कहानी के हर part के पीछे छुपे हुए सिख को अगर आप निकाल न पाए तो मुझे जरूर बताएं ,

Island tour start 

एक 18 साल का लड़का था जिसने अपने 18 साल के करियर में कभी भी समुंद्र नहीं देखा था मुझे पता है आप सब को यह जानकर बहुत हैरानी होगी कि ऐसा कैसे हो सकता है , लेकिन कहानी उस लड़के की है जिसने कभी भी समुद्र नहीं देखा था , लेकिन जिस दिन उसने समुद्र देखा उस दिन से उसकी लाइफ ने एसी करवट ली जिसे आज मै आपके सामने रखना चाहता हूं , 

एक दिन था दोस्तों उस लड़के के दोस्त अपनी फैमिली के साथ बाहर घूमने जा रहा था और ताज्जुब की बात है कि वह शिप में बैठकर जा रहा था यह बात उस लड़के को पता चला तो उसने सोचा क्यों ना मैं उस बहाने बीच देखकर आवु उसने किसी तरह अपने मम्मी पापा को मनाया और चल पड़ा लेकिन जाते वक्त उसे इस बात का बिल्कुल अंदाजा नहीं था कि यह सफर उसे क कहां ले जाएगी लड़का अपने दोस्त के पास गया और वह बीच तरफ रवाना हुए रास्ते में लड़का बार-बार पूछता रहा बीच कब आएगा और आखिर बीच आ ही गया जब उसने पहली बार समुद्र को देखा उसकी आंखें खुली की खुली रह गई उसका दोस्त सिर्फ में बैठने जा रहा था कि उसने जिंदगी कि मुझे भी शिफ्ट में बैठना है उसकी यही जितने उस लड़के की जिंदगी बदल कर रख दी ,

एक्सुल्ल में हुआ यह था कि जब वह लड़का शिप में बैठ कर पानी को देख रहा था तभी अचानक से शिप स्टार्ट हो गई और वह शिप से नीचे नहीं उतर सका धीरे धीरे से शिप की स्पीड बढ़ने लगी उसेके साथ-साथ लड़के के धड़कन की स्पीड भी बढ़ने लगी लेकिन जिसे बुरा वक्त शुरु हो जाता है वह कुछ वक्त तक रुकने का नाम नहीं लेता , हम आगे के पार्ट में देखेगी कि आखिर उस लड़की के साथ ऐसा क्या हुआ जिससे उसकी जिंदगी बदल गई , शुरुआत में मैं हर पार्ट 200 से 300 शब्दों का लिख रहा हूं आगे हम शब्दों की संख्या बढ़ाते जाएंगे , 
      
             

0 comments:

Share your experience with me