शनिवार, 20 अप्रैल 2019

अपने सामर्थ्य का दिखावा मत कीजिए Do not show off your power

अपने सामर्थ्य का दिखावा मत कीजिए Do not show off your power

अपने सामर्थ्य का दिखावा मत कीजिए Do not show off your power


एक राज्य में एक बहुत ही विद्वान पंडित रहता था एक दिन उस राज्य के राजा ने उस विद्वान पंडित को अपने यहां खाने पर invitation दिया, पंडित राजा के महल में खाना खाने के लिए गए,

खाना खाने के बाद पूरा दरबार लगा हुआ था उसमें राजा ने पंडित से एक question पूछा कि “पंडित जी आप मुझे यह बताइए कि आप इतने विद्वान है बुद्धिमान है आपके बारे में बातें करते करते लोग थकते नहीं हैं फिर आपका बेटा मूर्ख क्यों है" पूरा राजदरबार इस बात को सुनकर उस पंडित की हंसी उड़ाने लगे,

पंडित ने राजा से question किया “क्यों महाराज आप ऐसा क्यों कह रहे हैं मेरे बेटे से क्या कोई गलती हो गई" तब राजा ने कहा कि रोज में नगर की सैर करने निकलता हु तब आपका बेटा मुझे मिलता है तब मैं उनको यह question पूछता हूं की “यह बताओ कि gold ज्यादा क़ीमती है या silver और daily आपका बेटा यही जवाब देता है कि silver ज्यादा कीमती है,

इतना सब कुछ सुनने के बाद पंडित गुस्से से वहां से निकल जाता है और अपने घर जाता है घर पर जब पंडित पहुंचता है तब उनका बेटा उन्हें एक गिलास पानी देता है तो पंडित अपने बेटे से पूछता है कि “बेटे यह बताओ कि gold ज्यादा कीमती है या silver" तब उसका बेटा उत्तर देता है कि “पापा gold ज्यादा कीमती है" 

यह सुनने के बाद पंडित अपने बेटे से सवाल करता है तो फिर तुम रोज राजा को चांदी क्यों बताते हो, तब बेटे ने कहा कि “पापा जब मैं रोज school के लिए निकलता हूं तब महाराजा अपने दरबार के कुछ लोगों के साथ मिलकर वहां खुले में सभा लगाते हैं और मुझे भी वहां पर बुलाते हैं और पूछते हैं कि मेरे हाथ में एक silver का एक gold का सिक्का है इसमें से तुम्हें जो मूल्यवान लगे उसे उठाकर ले जाओ, मैं रोज एक silver का सिक्का वहां से ले लेता हूं" 

पंडित ने पूछा कि “तुम ऐसा क्यों करते हो" तब बेटे ने कहा कि “आइए पापा मैं आपको दिखाता हूं" उसके बाद बेटा उस पंडित को एक बक्सा दिखाता है जिसमें बहुत सारे silver के सिक्के भरे होते हैं बेटा उस बक्से को दिखाते हुए कहता है कि “अगर मैं राजा को सोना कीमती है ऐसा बोलता और सोना उठाकर ले आता तो आज मेरे पास इतने सारे चांदी के सिक्के नहीं होते,  

अपना जो सामर्थ्य है उस का दिखावा कभी ना करें because वक्त आएगा तब अपनेआप सबके सामने आपकी ताकात और आपका सामर्थ्य आ जाएगा,

मंगलवार, 16 अप्रैल 2019

इन 4 बातों को भूल जाइए Forget these 4 things

इन 4 बातों को भूल जाइए Forget these 4 things

इन 4 बातों को भूल जाइए  Forget these 4 things
इन 4 बातों को भूल जाइए  Forget these 4 things

चार Things जिंदगी में ऐसी होती है जिसको अगर आपने एक डिब्बे में pack करके नहीं रखा तो आपकी जिंदगी कभी आगे नहीं बढ़ सकती, I know की बहुत सारे लोग ऐसे होगे जिसको इन चार Things मे से कुछ बातों के बारे में बहुत पहले से पता होगा but पता होने से कुछ नहीं होता कभी भी किसी ने implement नहीं किया होगा,  

मुझे भी बहुत पहले ये चार वाक्य पता थे but मैं कभी उसको implement नहीं करता था सोचता था कि मुझसे नहीं हो सकता but आज हर वह काम जो मुश्किल थे मेरे लिए but आज आसान है और उसका बहुत बड़ा reason मेरा यह  web page है जिस पर आकर मे सारी बातें implement करता हूं और इस तरह से करता हूं कि कभी भी मैं उन बातों को भूल ना सकू,

Maybe इसी की वजह से मैं सारी बातें anytime याद रख सकता हु, वरना होता यह था कि मैं पढ़ तो लेता था but भूल जाता था कि मुझे करना क्या है, सुबह जब हम whatsapp शुरू करते तो उसमें बहुत सारे good morning के साथ text होते है जिसमें बड़े-बड़े good thought लिखे होते हैं जिसको हम सब पढ़ तो लेते है but बाद में भूल जाते हैं,

ऐसा मेरे साथ नहीं होता है because मैं जहाँ कही good thought पढ़ता हूं उसको लिखता हूं और इस तरह से लिखता हूं कि कभी भी भूल ना सकू, अब बात करता हूं उन चार Things की जिसके लिए आज यहां पर आया हु,

(1) 4 लोग क्या कहेंगे 


सबसे बड़ा Disease अगर इस दुनिया में कोई है तो वह ये है कि 4 लोग क्या कहेंगे जब वह आपको देखेंगे, maybe इस की वजह से 99% लोग आज fail हो रहे हैं, सोचने वाली बात यह है कि जिन लोगों के बारे में  सोचते हैं कि वह आपके बारे में क्या सोचेंगे, वही लोग पूरी जिंदगी यह सोचते रहते है कि हम उसके बारे में क्या सोचेंगे, इस हम तुम में जिंदगी दोनों की कट जाते हैं, आपको नहीं लगता कि आपको atleast अब different होना चाहिए आज से यानी कि अभी से,

एक interstrini बात बताता हूं कि जिन 4 लोगों के बारे में आप पूरी जिंदगी सोचते रहते हैं कि वह आपके बारे में क्या बोलेंगे वही चार लोग जब आप का देहांत हो जाएगा तब आपको कंधे पर लेकर सिर्फ और सिर्फ राम नाम सत्य है यही बोलेंगे, इसलिए atleast इसको तो मुझे और आपको आज पीछे छोड़ना ही है, 

रविवार, 14 अप्रैल 2019

कुछ भी हो जाए लेकिन हँसना कभी मत छोड़ना Never give up laughing

कुछ भी हो जाए लेकिन हँसना कभी मत छोड़ना Never give up laughing

Never give up laughing
Never give up laughing

बचपन में जब लोग हमें हंसता हुआ देखते थे तब बहुत खुश होते थे लेकिन आज सिर्फ दो ही इंसान है जो हमें हंसता हुआ देख कर खुश होते हैं और वह है हमारे parents हमारे teachers, बाकी सब लोग आपको हंसता हुआ देखेंगे तो सोचेंगे कि ऐसा क्या आपको मिल गया जिसकी वजह से आप हंस रहे हैं, 

मतलब कि किसी को भी हमारी हंसी से खुशी नहीं है but ताज्जुब की बात तो यह है कि हम भी उन्हीं दो लोगों के साथ झगड़ा करते हैं जिन्होंने पूरी जिंदगी  सिर्फ और सिर्फ हमारी हंसी के लिए कुर्बान करदी, 

मैंने अपने एक blog में लिखा था शायद की जो लोग हमारा बुरा चाहते हैं उन लोगों के लिए सबसे बड़ी सजा तो यह है कि हम हर वक्त हंसते हुए रहे और वे सोंचते रहे कि हमें ऐसा क्या मिल गया, 

एक commitment तो आज कर ही लेते है कि कुछ भी हो जाए जिंदगी में कितनी भी बड़ी problem क्यों ना हो हमें बस हँसते रहना है और कुछ नहीं करना, वैसे एक बात और clear करता हु की smile करनी है laughing नही, 

वैसे भी हंसने का कोई reason नहीं होता कुछ लोग कहेंगे कि अगर बिना बात के हंसते हुए चेहरे के साथ किसी के पास गए तो सामने वाला समझेगा कि हम लोग पागल हो गए हैं but ऐसा नहीं होता और सबसे खास बात औऱ मेरी जिंदगी को बहेतरीन बनाने में सहयोग देने वाले इस dialogue को भी हमेशा याद रखे कि  मुझे और आपको किसके बाप का कर्जा देना है

आज तक कि सारी बातों को छोड़कर आज इतना जरूर सीख लेना है कि अब से इस वक्त से हंसना नहीं छोड़ना है कुछ भी हो जाए, और यह भी एक सच्चाई है कि जो वक़्त बहुत बुरा होता है उस वक्त से अच्छा वक्त कोई नहीं होता, हमारी life का यह एक बहुत बड़ा fact है  जिसे आप आज पहचान लो या फिर तब पहचाना जब life आधी कट चुकी हो, मैंने तो बहुत पहले इस सच को जान लिया आज बात यहां पर इसलिए कह रहा हूं because इसका एहसास मुझे आज हुआ,

मैंने हंसने के बहुत सारे reasons पहले भी अपने कई blog में लिखे हैं, कुछ साल पहले मेरी ऐसी हालत कुछ इस तरह थी कि मैं पूरा दिन दुखी होने के coz अपने दिमाग में ढूंढता रहता था, सोचता था कि इस time में खुश होना मतलब की पाप है पता नहीं कहां से लेकिन दिमाग में यह बात कही से घुस चुकी थी कि कभी भी life में खुश नहीं होना चाहिए because खुश होने के बाद दुख आता है इसलिए अच्छा ये है कि बुरा वक्त अपने चेहरे पर लटका कर फिरते रहो,

वक्त के साथ कुछ ऐसे बीच जो मेरे दिमाग में बूढ़े हो चुके थे उसकी जड़ इतनी मजबूत हो चुकी थी जिसको महेनत से निकलना भी आसान नहीं था लेकिन धीरे-धीरे करके उन सब बातों को मैं अपने दिमाग से निकालने की कोशिश कर रहा हूं और कुछ ऐसे positive बीज है जिसको धीरे-धीरे अपनी life में कुछ experience के साथ डालने की कोशिश कर रहा हु, आप भी हो सके तो इन बातों को अपने दिमाग में बिठाने की कोशिश जरूर करना because मैं और आप एक है इस बात को भी आप कभी  इंकार नहीं कर सकते,

शुक्रवार, 12 अप्रैल 2019

मैंने अपनी जिंदगी में बहुत सारी गलतियां की है my thoughts

मैंने अपनी जिंदगी में बहुत सारी गलतियां की है

मैंने अपनी जिंदगी में बहुत सारी गलतियां की है
मैंने अपनी जिंदगी में बहुत सारी गलतियां की है 

एक habit ने मुझे परिसान कर के रख दिया,  जब भी में किसी के साथ phone पर बात करता हूं तो कुछ वक्त बाद हमारी जो conversation है वह study पर आकर रुक जाती हैं जो topic 99% लोगों को पसंद नही है, मैं सिर्फ और सिर्फ learning से जुड़ी बातों को start कर देता हूं, 

जब में शुरू हो जाता हूं तब अपने आप को रोक नहीं पाता and कुछ देर बाद सामने वाला मुझसे कहता है कि चलो अब बाद में बात करेंगे और ऐसा सुनने के बाद जब मैं phone रखता हूं तो मेरे दिमाग में इतने ख्याल आते हैं जो मुझे कुछ देर के लिए looser बना देते है, 

मेरे दिमाग में आता है कि आज से किसी के साथ phone पर study से जुड़ी बात नहीं करूंगा, और कभी कभी तो सोचता हूं कि आज से किसके साथ बात ही नहीं करूंगा, बस यही thoughts मुझे कुछ देर के लिए weak बना देते है, I know की मैंने जो किछ बोला उसमे  कुछ गलत तो नहीं था, 

मुझे किसको भी explain करना पसंद नही क्यों कि मैंने ही अपने एक blog में लिखा था कि अपनो को कभी explanation मत देना क्यों कि जो वाकई अपने है उसे इसकी जरूरत नही और गैरो को भी कभी explanation मत देना क्यों कि वह तुम्हें कभी नही समझेगें, 

God blessing से मेरे पास ये platform है जहाँ पर में अपने साथ बातें करके relax feel कर सकता हु, आज में यहां पर 4 पंक्ति उन लोगों के लिए लिखने आया हु जिसे ऐसा लगता है कि में अपने आपको उनसे ज्यादा समझदार समझता हूं, i know की वह लोग इसे नही पढेंगे but मुझे तो तसल्ली हो जाएगी, 

में तुम सबको इस लिए advice नही देता
की में अपने आपको तुमसे ज्यादा समझदार समझता हूं,
बल्कि में तो इसलिए advice देता हूं because,
मैने अपनी life में तुम सबसे ज्यादा गलतियां की है,

बस यही मुझे उस सब लोगो से कहना था, वैसे thank God अब अच्छा लग रहा है, आज का यह blog मुझे जिंदगी भर इस बात का एहसास दिलाता रहेगा कि उस वक़्त में गलत नही था जब मैं लोगों को advice देता फिर रहा था, 

सच कहु तो में कभी किसी को advice देता है नही में तो बस अपनी कुछ गलतियां बताने की कोशिश करता हु, यहां पर भी और बाकी जगह पर भी, 

बुधवार, 10 अप्रैल 2019

जिंदगी में ज्यादा महेनत करने से कुछ नही होता Do not work hard

जिंदगी में ज्यादा महेनत करने से कुछ नही होता Do not work hard

आज मेरा एक बहुत बड़ा myth clear हो गया, मैं हमेशा यह सोचता था कि अगर कुछ बड़ा करना है तो हमें बहुत मेहनत करनी पड़ेगी यानी की hard work करना पड़ेगा, उसीकी ही बदौलत में जिंदगी में कुछ बड़ा कर सकता हु, 

लेकिन suddenly मुझे देखने मिला कि अगर कठोर परिश्रम करने वाले people जिंदगी में कुछ बड़ा बन जाते तो आज सबसे ज्यादा successful वह लोग होते हैं जो जो सुबह 5:00 बजे से लेकर रात को 8:00 बजे तक पत्थर तोड़ता है अगर ऐसा होता तो सबसे ज्यादा successful इंसान दुनिया के सारे labourer होते, 

जो सुबह काम पर जाता है और जब रात को घर आते है तो उसकी हालत के बारेमें मैं और आप सोच भी नही सकते, अगर truly ऐसा होता तो सबसे ज्यादा successful वह इंसान होता जो rent पर रिक्शा लेकर दिन और रात बड़ी बड़ी cities में  चलाता है,  

अपना और अपने family का गुजारा करता है but सोचने वाली बात है कि अगर ऐसा नहीं है अगर ज्यादा hard work करने से कुछ मिलता नहीं है तो क्या ज्यादा मेहनत करना छोड़ दे, ऐसा तो बिल्कुल नहीं हो सकता because अगर मेहनत करना छोड़ दिया तो कुछ भी नहीं बन सकते यह बात भी clear है इस सवाल ने मुझे परिसान कर दिया था, 

अब question यह है कि ज्यादा मेहनत करनी भी नहीं है और कुछ बनना भी है, इसका क्या meaning है so इसका बस यही meaning है कि.......... एक काम करते है  एक छोटा सा example से समझतें है,

जिंदगी में ज्यादा महेनत करने से कुछ नही होता, इस बात को जान लीजिए

जिंदगी में ज्यादा महेनत करने से कुछ नही होता Do not work hard
जिंदगी में ज्यादा महेनत करने से कुछ नही होता

सबकी life में एक ऐसा काम जरूर होता है जो काम करने से आपको कभी भी थकान नहीं होती, एक ऐसा काम जिसे अगर में दिन के 18 घंटे भी करू तब भी मुझे ऐसा लगेगा कि आज मैंने कुछ नहीं किया, और रात को सोते वक्त दिल कहे कि जल्दी सुबह हो जाये और में फिर से अपना अधूरा work complite करू, और ताज्जुब की बात यह पर ये है कि वह काम पूरी जिंदगी में कभी complite ही नही होता है अगर बात को गहराई से समझने की कोशिश करे तो, 

रोज़ रात को यही mind में हिता है कि next day आज से भी ज्यादा मेहनत करूंगा, and कुछ और नया करने की कोशिश भी करूंगा, हर किसी की life में कोई ना कोई ऐसा काम जरूर होता है जो करने से उसको इतना अच्छा लगता है कि वह हर रोज अपने आप को उस काम में और ज्यादा काबिल बनाने की कोशिश करता है, 

अब maybe आपको यह तो पता चल गया होगा कि life में कुछ बड़ा करने के लिए hard work तो नही करना पड़ता but अगर किसी को doubt है कि मुझे तो अपने पसंदीदा काम को करने में भी hard work करना पड़ता है तो इसका बस एक ही meaning है कि वह आपका पसंदीदा काम कभी था ही नही, 

आप अनजाने में अपना काम भी कर रहे है और दूसरों के मुताबिक ज्यादा महेनत भी कर रहे है,  सोचिए कि कोई ऐसा इंसान जिसे आपके work से कोई मतलब ही नही, जिसे आपका work ही पसंद नही है अगर वह उस work को करेगा तो उसका क्या करना पड़ेगा........... hard work,  


सोमवार, 8 अप्रैल 2019

बचपन की कुछ ऐसी बाते जो आज भी हमें हैरान करती है motivational message

बचपन की कुछ ऐसी बाते जो आज भी हमें हैरान करती है motivational message

बचपन की कुछ ऐसी बाते जो आज भी हमें हैरान करती है
बचपन की कुछ ऐसी बाते जो आज भी हमें हैरान करती है

Childhood से ही मुझे छिपकली से बहुत ज्यादा डर लगता है ऐसा क्यों होता है वह मैं आपको last में बताता हूं but फिलहाल कुछ किस्से के बारे में बात करते हैं जो इस छिपकली के पुराण से जुड़े हुए हैं,

Childhood में जब मैं 7th क्लास में था तब मेरे जो classroom की छत थी वह कुछ इस प्रकार थी जो picture में दिखाई दे रही है, मुझे उसका हिंदी या इंग्लिश meaning नही पता, 

Classroom में जहां पर में बैठता था उसके ऊपर कभी कभी छिपकली आ जाती थी मेरे सारे friends को पता था कि मुझे Lizard से बहुत डर लगता था इसलिए जब भी मैं अपनी जगह पर आकर बैठता था तब मैं तो ऊपर नही देखता था because मुझे तो छिपकली से डर लगता था, 

I know कि अगर मैंने गलती से Lizard ऊपर देखी तो मैं किसी भी lecture को ठीक से अटेंड नहीं कर पाऊंगा और class खत्म होने तक डरता रहूंगा but मेरे सारे friends  वह रोज आकर सबसे पहले मेरे ऊपर देखते थे और पता करते थे कि आखिर वहां पर छिपकली है या नहीं है अगर उसे गलती से भी दिख जाती तो मुझे पूरा दिन डराते रहते,

जब मैं अपनी marksheet देखता था तब सोचता था कि maybe इसमें जो 2/ 4 Mark's कम हैं उसका एक कारण वह छिपकली भी है जिसका डर मेरे अंदर है और जिसकी वजह से मैं कुछ lecture को कभी ठीक से attempt नहीं कर पाया, but कोई बात नहीं जो होता है अच्छे के लिए होता है यही सोचकर हम childhood से आज में आते हैं,

आज भी जब भी मैं अपने बाथरुम में नहाने के लिए जाता हूं तो अपने neighbour में एक छोटी सी 3 या 4 साल की बच्ची है जिसे सबसे पहले उस बाथरूम में भेजता हूं और उसे कहता हूं कि चारों तरफ देखो कहीं कोई Lizard तो नहीं है अगर है तो उसके हाथ में एक छोटी सी लकड़ी देता हूं और वह उस Lizard को बाहर निकालती थी उसके बाद में बाथरूम में नहाने के लिए जाता हु, 

एक  बहुत ही अच्छा किस्सा सुनाता हूं जिसे सुनने के बाद maybe आपको पता चल जाएगा कि मैं Lizard से क्यों डरता हूं और जिस किसी को समझ में नहीं आएगा, उसको कोई problem लेने की जरूरत नहीं है because end में में इन सारी बातों को define करने वाला हु,

एक दिन मेरे घर में मेरी नानी आई और तभी मैं नहाने जा रहा था और उसी वक्त मैंने उस छोटी सी बच्ची को कहा कि जाओ बाथरुम में जाकर देखो कोई Lizard तो नहीं है और यह सब कुछ मेरी नानी देख रही थी, तो उसने मुझसे पूछा कि “तुम इतने बड़े होकर Lizard से डरते हो और वह इतनी छोटी हो कर भी Lizard से नहीं डरती तुम्हें तो शर्म आनी चाहिए" 

तब मैंने मेरी नानी से कहा कि “नानी जब मैं छोटा था तब मेरी mother  मुझे यह कहकर सुला देती थी की सो जाओ वरना दीवाल पर जो Lizard है वह तुझे खा जाएगी और यहीं सुन सुन में बड़ा हुआ हु,

यह सुनकर सब लोग हंसने लगे और मैं भी हंसने लगा but ताज्जुब की बात यह है कि मुझे नहीं पता कि childhood में मेरी मां मुझे क्या कहकर सुलाती थी but यह जो dialogue निकला मेरे मुंह से वह suddenly निकला, जिसके बारे में मुझे कुछ पता नहीं but इस बात का हमारी जिंदगी से बहुत बड़ा connection है,

इस बात को सुनने के बाद कुछ लोग मेरे इस ब्लॉग का meaning समझ गए होंगे, और कुछ लोगों जो मेरी तरह नही समझे वह कुछ देर और read करो, बचपन में ऐसी बहुत सारी छोटी छोटी बातें और कुछ hebit होती है जो हमारे in parents हमारे दिमाग में डाल देते हैं, जिसकी वजह से आज भी हम उस काम को करने से डरते हैं, 

Because इस डर का बीज childhood में बोया गया है जिसको जड़ से उखाड़ने में बहुत मेहनत लगती है and बहुत वक्त भी लगता है maybe इसी वजह से कुछ hebit है जिसे आज भी हम नहीं छोड़ पा रहे हैं हर किसी की life में बहुत सारी जंजीरे होती है जो बचपन में हाथों में डाल दी जाती है और आज तक कभी भी हमने उस जंजीरों को तोड़ने की कोशिश नहीं करी, 

आज time है उसको तोड़ने का और उससे भी पहले वक्त है उस जंजीरों के बारे में जानने का कि आखिर ऐसी क्या चीज है जो हमारे दिमाग में डाली गई और आज भी हम उसकी वजह से कभी कुछ नहीं बन पाए, इसलिए आगे कुछ लिखना नहीं चाहता हूं आप खुद सोचिए कि ऐसा क्या है जो बचपन में आपके दिमाग में डाल दिया गया और आज भी आपकी success में रूकावट बन कर आपको आगे बढ़ने से रोक रहा है सिर्फ आप नहीं मैं भी इसकी जड़ तक जाने की कोशिश कर रहा हूं,